ताज़ा खबर
 

गोली का जवाब गोली से देगी पुलिस: आइजी

गोरखपुर जोन के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने कहा कि राज्य के सीमावर्ती जनपदों में अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिकों को चिह्नित करके उन्हें बाहर निकालने के लिए अभियान चलाया जाएगा।
Author गोण्डा | October 13, 2017 00:33 am
गोरखपुर जोन के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल

गोरखपुर जोन के पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने कहा कि राज्य के सीमावर्ती जनपदों में अवैध रूप से रह रहे विदेशी नागरिकों को चिह्नित करके उन्हें बाहर निकालने के लिए अभियान चलाया जाएगा। साथ ही नेपाल से लगी सीमा से मादक पदार्थों, जाली नोटों व अवैध असलहों की तस्करी रोकने व जंगलों की कटान पर रोक लगाने के लिए सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के साथ मिलकर सघन जांच पड़ताल की जाएगी। गुरुवार को एक दिवसीय दौरे पर गोण्डा पहुंचे अग्रवाल परिक्षेत्र के पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक करने के बाद बात कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने राज्यों के सीमावर्ती इलाकों जिलों में विशेष सघन जांच अभियान चलाकर संदिग्ध व्यक्तियों की अवैध घुसपैठ को रोकने का निर्देश दिया है। इस क्रम में देवीपाटन परिक्षेत्र के सभी चार जिलों के पुलिस अधीक्षकों की बैठक में आज उन्होंने इस दिशा में सख्त कदम उठाने का निर्देश दिया है। राजनीतिक हल्कों में मुख्यमंत्री का यह निर्देश बांग्लदेशी व रोहिंग्या मुसलमानों के परिप्रेक्ष में देखा जा रहा है।
अग्रवाल ने कहा कि अगर अंतरराष्ट्रीय सीमा पर एसएसबी की तैनाती के बाद सीमा पार से होने वाले अपराधों में कमी आई है किन्तु इसे पूरी तरह से बंद करने व आगामी दीवाली के त्योहार को ध्यान में रखते हुए सीमावर्ती जिले के पुलिस अधिकारियों को खास सतकर्ता बरतने के निर्देश दिए गए हैं। अवैध घुसपैठियों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताते हुए पुलिस महानिरीक्षक ने कहा कि उन्होंने थाना वार बीट आरक्षियों से संदिग्ध व्यक्तियों की सूची तैयार करवाने को कहा है। अग्रवाल ने दावा किया कि अब आक्रामक पुलिसिंग की जाएगी। गोली का जवाब गोली से दिया जाएगा।

गोण्डा में बैंक सुरक्षा कर्मी की दिनदहाड़े गोली मार कर 50 लाख रुपए लूट लेने की घटना को दुस्साहसिक करार देते हुए उन्होंने कहा कि भीड़ भरे बाजार में इस प्रकार की घटना पुलिस के लिए एक चुनौती है। उन्होंने जिला पुलिस को घटना के जल्द अनावरण करने का निर्देश दिया है। अग्रवाल ने कहा कि दो-तीन दिन के अंदर इस घटना का खुलासा कर दिया जाएगा। आइजी ने कहा कि अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए हत्या व लूट करने वाले 5 से 10 अपराधियों को चिह्नित कर थाना स्तर पर सूची तैयार करने का निर्देश दिया है। ऐसे अपराधियों के यहां नियमित दबिश दी जाएगी तथा उन पर इनाम भी घोषित कराया जाएगा।

उन्होंने पुलिस के अभिलेखों में सक्रिय लुटेरों के बाहर रहने पर स्थानीय पुलिस को फटकार भी लगाई। उन्होंने बीट आरक्षी से लेकर पुलिस अधिकारियों तक को पैदल गश्त करने और रोमिया विरोधी दल की सशक्त उपस्थिति सुनिश्चित कराने का निर्देश सभी पुलिस अधीक्षकों को दिया। बैठक में देवीपाटन परिक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक अनिल कुमार राय, गोण्डा के पुलिस अधीक्षक उमेश कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक हृदेश कठेरिया समेत सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक मौजूद रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.