ताज़ा खबर
 

कोरोना के कीटाणु मिलते, तो फडणवीस के मुंह में डाल देता- बोले Shivsena नेता, विवाद

कई लोगों ने सवाल उठाया कि कोरोना से बुरी तरह जूझने के बाद भी शिवसेना के लोग उससे निपटने के बजाय विपक्षी (बीजेपी) को कोसने में जुटे हैं।

Sanjay Gaikwad, Devendra Fadnavis, Coronavirusशिवसेना नेता संजय गायकवाड़ और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस। (फोटोः fb-SanjayGaikwad3132/एक्सप्रेस आर्काइव)

शिवसेना के एक विधायक ने कहा है कि अगर उन्हें वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के कीटाणु मिल जाते, तब वह उन्हें BJP नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के मुंह में डाल देते।

यह बयान संजय गायकवाड़ ने दिया है। दरअसल, शनिवार को उनका एक वीडियो मैसेज सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें उन्होंने कहा था, “अगर मुझे कोरोना के कीटाणु मिलते तो मैं उन्हें देवेंद्र फडणवीस के मुंह में डाल देता।” गायकवाड़, बुलढाना से शिवसेना विधायक हैं और उनकी इस टिप्पणी पर विवाद पनप गया है।

Lockdown in India LIVE Updates

रोचक बात है कि उद्धव की पार्टी के नेता की यह टिप्पणी ऐसे वक्त पर आई है, जब महाराष्ट्र कोरोना से देश में सर्वाधिक प्रभावित सूबा है। वहां दवा की किल्लत से लेकर श्मशान में लाशें जलाने तक के लिए जगह की कमी है। ऐसे में सोशल मीडिया पर कई लोगों ने सवाल उठाया कि कोरोना से बुरी तरह जूझने के बाद भी शिवसेना के लोग उससे निपटने के बजाय विपक्षी (बीजेपी) को कोसने में जुटे हैं।

रेमडेसिविर के भंडारण पर फार्मा कंपनी के निदेशक से पूछताछ की, भाजपा नाराजः मुंबई पुलिस ने रेमडेसिविर दवा के कथित अत्यधिक भंडार को लेकर एक फार्मा कंपनी के निदेशक से पूछताछ की और आवश्यक दस्तावेज जमा करने के बाद उन्हें जाने दिया।

एक पुलिस अधिकारी ने रविवार को बताया, ‘‘उन्होंने कम से कम 60,000 शीशियां जमा कर रखी थीं। कोरोना वायरस के रोगियों के इलाज में इस्तेमाल होने वाली इस दवा की कमी की वजह से राज्य और केंद्र सरकार ने उन्हें इस माल को घरेलू बाजार में बेचने की इजाजत दी थी। हालांकि मूल रूप से यह निर्यात के लिए थी।’’

इसी बीच, विपक्ष के नेता फडणवीस का आरोप है कि महाराष्ट्र सरकार केंद्रशासित प्रदेश दमन के एक रेमडेसिविर आपूर्तिकर्ता को परेशान कर रही है, क्योंकि राज्य में इस दवाई की आपूर्ति के लिए भाजपा नेताओं ने उससे संपर्क साधा था।

देश में एक दिन में सर्वाधिक 2,61,500 नए केस: भारत में एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 2,61,500 नए मामले सामने आने के साथ कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 1,47,88,109 पर पहुंच गए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के रविवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक उपचाराधीन मामले 18 लाख के पार पहुंच गए हैं।

मंत्रालय द्वारा सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के मुताबिक 1,501 और संक्रमितों की मौत होने से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,77,150 पर पहुंच गई। संक्रमण के मामलों में लगातार 39वें दिन वृद्धि हुई है। देश में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 18,01,316 हो गई है जो संक्रमण के कुल मामलों का 12.18 प्रतिशत है जबकि संक्रमित लोगों के स्वस्थ होने की दर गिरकर 86.62 प्रतिशत रह गई है। (पीटीआई-भाषा इनपुट्स के साथ)

Next Stories
1 ऑक्सिजन मिल नहीं रही, मरीज मरेंगे तो मुझ पर फोड़ा जाएगा ठीकरा, इसलिए मुझे पदमुक्त करें- हॉस्पिटल अधीक्षक ने लिखी चिट्ठी
2 रायपुर के कोरोना अस्पताल में लगी आग, 4 मरीजों की मौत
3 ज़मानत मिलते ही फिर गिरफ्तार हो गया दीप सिद्धू, दूसरे मामले में दिल्ली पुलिस ने धरा
ये पढ़ा क्या?
X