ताज़ा खबर
 

वायु सेना का हेलीकॉप्टर प्रशिक्षण के दौरान दुर्घटनाग्रस्त

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) का एक चेतक हेलीकॉप्टर बुधवार को उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद के निकट बामरौली में तकनीकी खराबी के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो गया।

Author March 15, 2017 4:03 PM
ये हादसा बम्हरौली एयरबेस स्थित ट्रेनिंग कैंप से तकरीबन एक किमी पहले गौसपुर कटौला गांव में सुबह 7.30 से 7.45 बजे के बीच हुआ। (photo source -ANI)

भारतीय वायुसेना (आईएएफ) का एक चेतक हेलीकॉप्टर बुधवार को उत्तरप्रदेश के इलाहाबाद के निकट बामरौली में तकनीकी खराबी के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो गया। भारतीय वायु सेना का एक चेतक हेलीकॉप्टर शहर के बाहरी इलाके से आज सुबह उड़ान भरने के कुछ ही मिनट के अंदर कौशांबी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। रक्षा अधिकारियों ने बताया कि इस दुर्घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है। रक्षा पीआरओ ग्रुप कैप्टन बी बी पांडे ने बताया कि आईएएफ के चेतक हेलीकॉप्टर ने यहां से 20 किलोमीटर दूर बमरौली स्थित केन्द्रीय वायु कमान मुख्यालय से उड़ान भरी थी। हेलीकॉप्टर दैनिक प्रशिक्षण में था और उसमें दो पायलट सवार थे।

मिली जानकारी के अनुसार ये हादसा बम्हरौली एयरबेस स्थित ट्रेनिंग कैंप से तकरीबन एक किमी पहले गौसपुर कटौला गांव में सुबह 7.30 से 7.45 बजे के बीच हुआ। हालांकि इस हादसे में दोनों पायलट सुरक्षित बच गए।बम्हरौली स्थित बेसिक फ्लाइंग ट्रेनिंग स्कूल में थल सेना के जवानों को उड़ान का प्रशिक्षण दिया जाता है। एयरफोर्स के ट्रेनर पायलट थलसेना के प्रशिक्षु को बुधवार सुबह हेलीकॉप्टर उड़ाना सिखा रहे थे। इस दौरान हेलीकॉप्टर का इंजन फेल हो गया। पायलट ने आपातकालीन लैंडिंग का निर्णय लिया लेकिन जमीन ऊबड़-खाबड़ होने के कारण वह कौशाम्बी जिले के पिपरी थानाक्षेत्र के गौसपुर कटौला गांव के खेत में पलट गया।

उन्होंने एक बयान में कहा,‘‘ उड़ान भरने के तत्काल बाद हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी आ गई जिसके बाद पायलटों ने उसे मैदान में उतारने का प्रयास किया। जमीन समतल नहीं थी इस कारण विमान उतरने के बाद पलट गया हालांकि दोनों पायलट हेलीकॉप्टर से सुरक्षित बाहर निकल आए ।’’ घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिए गए हैं।

वायु सेना के पीआरओ कैप्टन बीबी पांडेय ने बताया कि निंग कैंप के एक किमी पहले इमर्जेंसी लैडिंग के दौरान हेलीकॉप्टर पलटा है। शुरूआती रिपोर्ट में इंजन फेल होने की सूचना मिली है। हालांकि सेना ने दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश दे दिए हैं। सुबह 6 बजे उड़ान भरने के बाद 7 से 7.15 बजे के बीच हेलीकॉप्टर में तकनीकी खराबी आई।

जहां हेलीकॉप्टर की घटना हुई वहीं बगल में गैस का गोदाम था। यदि हेलीकॉप्टर थोड़ा आगे गोदाम में गिर जाता तो बड़ी अनहोनी से इनकार नहीं किया जा सकता। गांव के नरेश पाल के अनुसार सुबह दुर्घटना की खबर मिलते ही वे मौके पर पहुंचे लेकिन सेना ने पास जाने से रोक दिया।

वायु सेना का हैलिकॉप्टर ट्रेनिंग के दौरान क्रैश; दोनों पायलट सुरक्षित

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App