ताज़ा खबर
 

IAF Strike: उमर अब्दुल्ला ने की वायुसेना की तारीफ, कहा- अब भारत-पाक के बीच जंग का खतरा बढ़ा

Indian Air Force Aerial Strike: भारतीय वायुसेना द्वारा बालाकोट के आतंकी ठिकानों पर कार्रवाई करने के बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने युद्ध की आशंका जताते हुए ट्वीट किया कि अब पीएम इमरान खान इस पर विचार करेंगे कि पाकिस्तान जबाव दे या नहीं।

Author Published on: February 26, 2019 5:18 PM
जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्‍दुल्‍ला फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Indian Air Force Aerial Strike:  भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमानों ने बालाकोट में आतंकी शिविरों को ध्वस्त कर दिया है। इसके बाद जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने दो परमाणु शक्ति संपन्न देशों के बीच युद्ध की आशंका जताते हुए सोशल मीडिया पर लिखा कि अब पाकिस्तान पीएम इमरान खान इस पर विचार करेंगे कि पाकिस्तान जबाव दे या नहीं। उन्होंने लिखा कि देखना यह है कि इमरान अब किस तरह की प्रतिक्रिया देंगे? कहां प्रतिक्रिया देंगे? क्या भारत पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर करारा जवाब देगा। बता दें कि हाल ही में धारा 35 ए और अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस लेने के मुद्दे पर उन्होंने केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना की थी।

बता दें कि 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के बाद से देश में भारी आक्रोश है। इसके बाद केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी नेताओं की सुरक्षा वापस ले ली थी। जिसके बाद से ही घाटी में पीडीपी और एनसी के नेताओं ने सरकार के खिलाफ आवाज उठानी शुरू कर दी थी। लेकिन मंगलवार को जैसे ही भारतीय वायुसेना द्वारा पीओके में एयर स्ट्राइक की खबर आई तो कश्मीर में सियासी बयानबाजी का दौरा भी शुरू हो गया। उमर अब्दुल्ला ने कहा कि पाक पीएम इमरान खान अब किस तरह की प्रतिक्रिया देंगे? कहां प्रतिक्रिया देंगे? क्या भारत पाकिस्तान की प्रतिक्रिया पर करारा जवाब देगा। साथ ही उन्होंने कहा कि अगर यह बात सच है तो यह छोटा हमला नहीं है। यह हमारी उम्मीद से परे है।

Air Strike on pakistan Live:

 

अब्दुल्ला का ट्वीट- उमर अब्दुल्ला ने अपने पहले ट्वीट में लिखा, ‘वाह, अगर ये सच है तो ये छोटा हमला नहीं है लेकिन हमें आधारिकारिक बयान का इंतजार करना चाहिए।”

बता दें कि वायुसेना के एयर स्ट्राइक के पहले कश्मीर में एनआईए की टीम ने कई अलगाववादियों के घर छापेमारी की। गौरतलब है कि एनआईए ने शुक्रवार को जम्मू कश्मीर के लिब्रेशन फ्रंट के अध्यक्ष यासीन मलिक को हिरासत में लिया था। इसके बाद कश्मीर में अर्धसैनिक बलों की 100 कंपनियों को तैनात किया गया। बता दें कि 14 फरवरी को सीआरपीएफ काफिले पर आतंकियों ने फिदायीन हमला किया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि सेना को आतंकियों के खिलाफ किसी भी तरह की कार्रवाई करने के लिए खुली छूट दी गई है। (एजेंसी इनपुट के साथ) 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 AAP नेता कपिल मिश्रा की कविता पर विवाद जारी, DOT अधिकारी ने दिल्ली पुलिस को लिखा शिकायती पत्र
2 Delhi: मेट्रो में सवारी कर इस्कॉन मंदिर पहुंचे PM नरेंद्र मोदी, वायरल हुई बच्चे से खेलने की तस्वीर
3 IAF Strike: वायुसेना ने बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर की एयर स्ट्राइक, पूरे देश में यूं मना जश्न