ताज़ा खबर
 

IAF AN-32: फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग की तलाश में जुटे पिता और पत्नी, मां को पता ही नहीं लापता है बेटा

इंडियन एयरफोर्स के एयरक्राफ्ट के साथ लापता हुए फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहित के पिता और अंकल ऋषिपाल गर्ग भी आस्था के साथ जोरहाट पहुंचे हैं। परिजनों ने उनकी हृदयरोग से पीड़ित मां सलोचना देवी को इस दुर्घटना की जानकारी नहीं दी है।

Author पटियाला | June 6, 2019 1:06 PM
पंकज सांगवान और फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग (एक्सप्रेस फोटो)

असम के जोरहाट से अरुणाचल प्रदेश के लिए उड़ान भरने वाला इंडियन एयरफोर्स का विमान एएन-32 चार दिनों से लापता है। इसी में 27 साल के फ्लाइट लेफ्टिनेंट मोहित गर्ग भी सवार थे। 4 साल की उम्र में ही घर से दूर हॉस्टल में रहने चले गए मोहित बचपन से बेहद मेधावी रहे। जब से यह एयरक्राफ्ट लापता हुआ है तभी से उनके परिजन किसी चमत्कार की उम्मीद में दुआएं कर रहे हैं। उनका परिवार पंजाब के पटियाला जिले में स्थित समाना गांव में रहता है। कारोबारी परिवार में जन्मे मोहित के घर में पिता सुरिंदरपाल गर्ग और बड़े भाई कमीशन एजेंट अश्विनी भी हैं। उनकी बहन मीनू की अब शादी हो चुकी है। मोहित अपने परिवार से सेना में जाने वाले पहले शख्स थे। 12वीं कक्षा के बाद उन्होंने एनडीए (नेशनल डिफेंस एकेडमी) की प्रवेश परीक्षा पास की थी।

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में अश्विनी ने बताया कि मोहित बचपन पढ़ने में बहुत तेज थे, इसी वजह से पैरेंट्स ने उन्हें पारिवारिक कारोबार में शामिल करने के बजाय सैनिक स्कूल (पंजाब पब्लिक स्कूल, नाभा) भेज दिया था। अश्विनी ने कहा, ‘हमारे पिता ने उसे कभी भी वो काम करने से नहीं रोका जो वह चाहता था। वो पढ़ाई में हमेशा अव्वल रहा, इसके बाद उसने इंजीनियरिंग करने से मना कर दिया। सैनिक स्कूल में पढ़ाई के बाद से ही उसकी डिफेंस में रूचि बढ़ गई थी। उसने एनडीए एंट्रेस परीक्षा पास की और अपनी पसंद का करियर बनाया।’

National Hindi News, 06 June 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

पिछले पांच सालों से मोहित जोरहाट में पोस्टेड हैं। पिछले साल ही उन्होंने जालंधर की रहने वाली पेशे से बैंकर आस्था गर्ग से से शादी की थी। मोहित की भाभी वंदना ने बताया, ‘पिछली बार वो दिवाली पर मिले थे। कुछ दिनों के लिए ही आए थे ऐसे मां उन्हें बहुत याद कर रही थी। वो हमेशा घर का बना खाना बहुत पसंद करते थे। कहते थे कि मेस का खाना खा-खाकर ऊब गए हैं।’

सोमवार (3 जून) को लापता हुए इस विमान की तलाश अब भी जारी है। मोहित के पिता और अंकल ऋषिपाल गर्ग भी आस्था के साथ जोरहाट पहुंचे हैं। परिजनों ने उनकी हृदयरोग से पीड़ित मां सलोचना देवी को इस दुर्घटना की जानकारी नहीं दी है। अश्विनी ने सरकार से अपील करते हुए कहा, ‘सुरक्षा बलों को दिए जाने वाले उपकरण आधुनिक होने चाहिए और समय-समय पर अपडेट भी होने चाहिए, ताकि इस तरह की दुर्घटनाओं से बचा जा सके। जो देश की रक्षा करते हैं, उन्हें बचाना सरकार का कर्तव्य है।’

Bihar News Today, 06 June 2019 Live Updates: दिनभर की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

वंदना कहती हैं कि उनकी 7 वर्षीय बेटी मान्या अक्सर उन्हें कॉल करके पूछती थी कि वो घर कब आ रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘हमने अभी उसे बताया नहीं कि उसके चाचा लापता हो गए हैं।’ मोहित के पिता सुरिंदरपाल ने इंडियन एक्सप्रेस से फोन पर हुई बातचीत में कहा कि वो सिर्फ अपने बेटे की वापसी चाहते हैं और जब तक बेटा नहीं मिल जाता वो कुछ भी करने को तैयार हैं। उन्होंने कहा, ‘मेरे पास किसी भी संबंध में कहने को कुछ नहीं है। मैं अपने बेटे को ढूंढ रहा हूं। अब तक कोई सूचना नहीं मिली है। उसके बारे में कोई सुराग नहीं मिला है।’

एयरक्राफ्ट के साथ लापता हुए 13 क्रू मेंबर्स में 22 साल के एयरमैन पंकज सांगवान भी शामिल हैं। हरियाणा के गोहाना स्थित कोहला गांव के रहने वाले हैं। पंकज ने 2015 में एयरफोर्स ज्वॉइन की थी। पिछले तीन दिनों से पंकज के पैरेंट्स, दोस्त और रिश्तेदार उनकी सुरक्षित वापसी के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। पंकज के दादाजी राम कुमार ने कहा, ‘पंकज ने 2 जून की सुबह आखिरी बार अपनी मां से बातचीत की थी। तभी से उससे परिजनों का कोई संपर्क नहीं हुआ।’

वायुसेना के इस विमान की तलाश में कई एजेंसियां जुटी हुई हैं। बुधवार (5 जून) को दो एमआई-17 और दो एएलएच हेलिकॉप्टर्स, सी-130जे और एसयू 30 की मदद से तलाश जारी रही। इस ऑपरेशन में सेना, आईटीबीपी, स्थानीय पुलिस और अन्य राज्यों की एजेंसियां भी लगातार तलाश कर रही हैं। भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर रत्नाकर सिंह ने बुधवार (5 जून) को कहा, ‘खराब रोशनी के कारण हेलिकॉप्टर्स द्वारा सर्चिंग को शाम के समय रोकना पड़ा।’

(चंडीगढ़ और गुवाहाटी, ईएनएस इनपुट के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App