ताज़ा खबर
 

उनकी नस्लें खत्म हो जाएंगी पर हैदराबाद का नाम नहीं बदलेगा, ओवैसी का सीएम योगी पर पलटवार

चुनाव प्रचार के दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि अगर उत्तर प्रदेश में फैजाबाद और इलाहाबाद क्रमश: अयोध्या और प्रयागराज हो सकते हैं तो हैदराबाद भी दोबारा 'भाग्यनगर' हो सकता है।

asaduddin owaisi, aimim, bihar election 2020, congress, bjp,एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी। (फाइल फोटो)

हैदराबाद निकाय चुनाव में भाजपा की तरफ से टीआरएस और ओवैसी की पार्टी दोनों को निशाना बनाया जा रहा है। वहीं, एआईएमआईएम के प्रमुख ओवैसी भी भाजपा पर पलटवार करने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं।

एक सभा में ओवैसी ने हैदराबाद का नाम बदलने को लेकर भाजपा पर निशाना साधा। ओवैसी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के हैदराबाद का नाम बदलने वाले बयान पर कहा कि जो शख्स यहां का नाम तब्दील करने की बात कर रहा है…इंशाल्लाह उनकी नस्लें खत्म हो जाएंगी लेकिन नाम तब्दील नहीं हो पाएगा। उन्होंने कहा कि जब वह शख्स कह रहा है तो हमें इसका संज्ञान लेना है। ओवैसी ने कहा कि यदि हम अली का नाम लेने वाले हैं तो हमें उन लोगों को पूरा जमूनी तरीके से जवाब देना है।

उन्होंने कहा कि इस शहर का नाम तो छोड़ो हम तुम्हारा नाम तब्दील कर देंगे। उन्होंने लोगों को अली का वास्ता देकर अपील की कि लोग उन लोगों को जवाब दें जो इस शहर का नाम बदलना चाहते हैं। इससे पहले हैदराबाद निकाय के चुनाव प्रचार के दौरान योगी आदित्यनाथ ने सत्ताधारी टीआरएस और एआईएमआईएम पर कुशासन और भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाया।

योगी ने कहा कि मतदाताओं को एक दिसंबर को होने वाले हैदराबाद निकाय चुनाव के दौरान यह दिखा देना चाहिए कि वे ”लूट” की छूट नहीं देंगे। उन्होंने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश में फैजाबाद और इलाहाबाद क्रमश: अयोध्या और प्रयागराज हो सकते हैं तो हैदराबाद भी दोबारा ”भाग्यनगर” हो सकता है।

एक दिसंबर को होने वाले चुनाव से पहले शुक्रवार रात को भाजपा की प्रचार अभियान बैठक को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ” अगर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की राशि 12 करोड़ किसानों के खाते में पहुंच सकती है तो केसी राव की सरकार ने बाढ़ से प्रभावित लोगों के खातों में पैसे क्यों नहीं भेजे?”

योगी ने आरोप लगाया कि यदि ”टीआरएस और एआईएमआईएम” का गठबंधन निकाय चुनाव में जीत हासिल करता है तो जनता को बुनियादी सुविधाएं भी नहीं मिल पाएंगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
यह पढ़ा क्या?
X