ताज़ा खबर
 

एलआईसी की रकम के लिए ट्रेन में पत्नी की हत्या करके स्टेशन पर उतरा, फिर दर्ज करा दी गुमशुदगी की रिपोर्ट

एक पति ने अपनी पत्नी के नाम पर कराए गए एलआईसी के पैसे को हड़पने के लिए उसकी हत्या कर दी और थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज करवाया। पति इन पैसों से दूसरी शादी करने की योजना बना रहा था।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

दिल्ली में कुछ पैसों की खातिर रिश्तों को शर्मासार करने वाला मामला सामने आया है। यहां एक पति ने एलआईसी की रकम पाने के लिए ट्रेन में अपनी पत्नी की हत्या कर दी थी। ट्रेन से उतर पत्नी की पुलिस थाने में पत्नी की गुमशुदगी का मामला दर्ज करवा दिया था। लेकिन उसकी चालाकी पकड़ी गई। पुलिस ने आरोपी पति 52 वर्षीय अब्दुल हकीम अंसारी को गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के यार्ड में खड़ी मुरादाबाद पैसेंजर ट्रेन में महिला की हत्या के मामले को सुलझा लिया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दिल्ली के उत्तम नगर में रहने वाले अब्दुल हकीम अंसारी अपनी 40 वर्षीय पत्नी मेहर जान को इलाज करवाने के नाम पर उत्तर प्रदेश के सिंभावली ले गए थे। वहां से लौटते समय उन्होंने ट्रेन में दुपट्टे से गला घोट अपनी पत्नी की हत्या कर दी थी और खुद विवेक विहार स्टेशन पर उतर गए थे। इसके बाद वे सात जुलाई को उत्तम नगर थाना पहुंचे और पत्नी की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवायी। रिपोर्ट में कहा कि, “छह साल पहले मेहर जान से उसकी शादी हुई थी। उसकी पहले से भी दो शादियां हो चुकी थी। मेहर जान उसकी तीसरी बीबी थी। छह जुलाई को मेहर जान घर से बिना बताए कहीं चली गई। काफी खोजबीन के बाद भी उसका कोई पता नहीं चला है।” अब्दुल हकीम के रिपोर्ट दर्ज करवाने के बाद पुलिस ने एसडीएम को पूरे मामले की जानकारी दी। इसके बाद मेहर जान के परिवारवालों से पूछताछ की गई। मेहर जान के परिवारवालों ने अब्दुल पर ही इस घटना के पीछे किसी तरह की साजिश का शक जताया।

वहीं, दूसरी ओर सात जुलाई को पुलिस ने पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के यार्ड में खड़ी मुरादाबाद पैसेंजर ट्रेन के एक डिब्बे से 40 वर्षीय महिला का शव बरामद किया था। इसके बाद जांच में जुटी पुलिस ने शव को सब्जी मंडी स्थिति मॉर्च्यूरी में भेजा। रेलवे डीएसपी दिनेश गुप्ता ने बताया कि, “महिला की पहचान मेहर जान के रूप में की गई। इसके बाद महिला के बारे में पता लगाने के लिए एक टीम का गठन किया गया। जांच के दौरान पाया कि महिला के पति ने उत्तम नगर थाने में गुमशुदगी का मामला दर्ज करवाया है। इसके बाद शव को महिला के पति को अंतिम संस्कार के लिए दे दिया गया।”

 

इसके बाद इस पूरे मामले में एक नया मोड़ आया। महिला के घरवालों ने उसके पति के उपर हत्या करने को लेकर आशंका जाहिर की। इसके बाद अब्दुल के गतिविधियों पर पुलिस ने नजर रखना शुरू कर दिया। संदेह होने पर उससे कड़ाई से पूछताछ की गई। इस दौरान वह टूट गया और अपनी पत्नी की हत्या की बात स्वीकार कर ली। अब्दुल ने कहा कि, इससे पहले वह दो बार शादी कर चुका है। ये उसकी तीसरी पत्नी थी। पिछले कुछ वर्षों से इसकी तबीयत खराब रहने लगी थी, इस वजह से वह परेशान हो गया था। इसके बाद उसने पत्नी के नाम पर एलआईसी की पॉलिसी खरीदी और इन पैसों को प्राप्त करने के लिए उसने हत्या की योजना बनाई। इन पैसों से उसने फिर से शादी करने की योजना बनाई थी। इसके लिए उसने अपने दो साथियों से भी मदद मांगी थी, लेकिन वे तैयार नहीं हुए। इस वजह से उसने खुद इस घटना को अंजाम दिया।” आरोपी अब्दुल अब्दुल हकीम अंसारी मूल रूप से उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का रहने वाला है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X