ताज़ा खबर
 

शौचालय तक को भगवा रंग में रंगने के लिए धर्म का अपमान कर रही है भाजपा: अखिलेश

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को इमारतों से लेकर शौचालय तक को भगवा रंग में रंगने के लिए भाजपा पर धर्म का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि रंग बदलने से कुछ होने वाला नहीं है।

Author लखनऊ | January 12, 2018 2:31 AM
इटावा में भगवां रंग वाले शौचालय

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को इमारतों से लेकर शौचालय तक को भगवा रंग में रंगने के लिए भाजपा पर धर्म का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि रंग बदलने से कुछ होने वाला नहीं है। अखिलेश ने यहां पार्टी मुख्यालय पर कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा शौचालय तक को भगवा रंग में रंग कर धर्म का अपमान कर रही है। उसने शौचालय को इज्जत घर नाम देकर उसकी इज्जत पर भी रंग पोत दिया है। रंग बदलने से कुछ नहीं होने वाला। विकास का रंग ही स्थायी होता है। जनता के कल्याण का कोई काम करने के बजाय भाजपा सिर्फ लोगों का ध्यान भटकाने वाले काम करती है। इस बीच, अखिलेश की उपस्थिति में बसपा, भाजपा, कांग्रेस, लोकदल और कौमी एकता दल के नेताओं ने अपने अनेक समर्थकों के साथ सपा की सदस्यता ग्रहण की।

सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा सरकार के कार्यकाल के शुरुआती 10 महीनों में ही उत्तर प्रदेश के हालात खराब हो गए हैं। भाजपा कार्यकर्ता कानून की धज्जियां उड़ा रहे है। अपराध रुक नहीं रहे हैं। बच्चियों की न तो इज्जत सुरक्षित है और न ही उनकी जिंदगी। राज्य में चारों तरफ अराजकता व्याप्त है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी पार्टी दरअसल विकासवादी पार्टी है, जबकि भाजपा सर्वाधिक जातिवादी है।

HOT DEALS
  • Micromax Dual 4 E4816 Grey
    ₹ 11978 MRP ₹ 19999 -40%
    ₹1198 Cashback
  • Apple iPhone 7 Plus 128 GB Black
    ₹ 60999 MRP ₹ 70180 -13%
    ₹7500 Cashback

भाजपा ने राज्य की पिछली सपा सरकार की जनहित की योजनाएं बंद कर दी हैं। भाजपा की सारी ताकत काम बिगाड़ने में लगी है। सपा में शामिल होने वालों में बसपा छोड़ कर आए पूर्व सांसद लालचंद्र कोल, पूर्व विधायक फरहत अब्बास, पूर्व विधायक ताहिर हुसैन सिद्दीकी, शंभू चौधरी, महेश वाल्मीकि, नंद किशोर मिश्र, पूर्व मंत्री श्याम लाल रावत प्रमुख हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App