ताज़ा खबर
 

10 लाख तक सालाना इनकम पर ऐसे बचेगा टैक्स, जानें पूरा गणित

Budget 2019: वित्त मंत्री ने बजट भाषण के दौरान 6.5 लाख रुपए की सालाना इनकम पर भी टैक्स नहीं लगने की बात कही। आप अपनी आय के हिसाब से कैसे बचा सकते हैं इनकम पर टैक्स, जानते हैं इस रिपोर्ट में

Union Budget 2019-20 India:वित्त मंत्री पीयूष गोयल फोटो सोर्स- PIB

मोदी सरकार ने 5 लाख रुपए तक की इनकम को पूरी तरह टैक्स फ्री कर दिया है। हालांकि, टैक्स स्लैब में कोई परिवर्तन नहीं किया गया। वह पिछले साल की तरह 2.5 लाख रुपए ही है। ऐसे में 5 लाख तक की इनकम वालों को अपनी इनकम से संबंधित डॉक्युमेंट्स जमा करने होंगे, जिसके बाद उन्हें टैक्स रिबेट मिलेगा। वित्त मंत्री ने बजट भाषण के दौरान 6.5 लाख रुपए की सालाना इनकम पर निवेश के बाद टैक्स नहीं लगने की बात भी कही। आप अपनी आय के हिसाब से कैसे बचा सकते हैं इनकम पर टैक्स, जानते हैं इस रिपोर्ट में :

2.5 लाख तक सालाना इनकम : टैक्स स्लैब की बात करें तो वह अब भी 2.5 लाख रुपए सालाना है। इतनी इनकम होने पर आपको किसी भी तरह का टैक्स नहीं देना होगा। साथ ही, इनकम संबंधित किसी भी तरह के कागजात जमा नहीं कराने होंगे। इसके बावजूद आईटीआर फाइल करना जरूरी है।

5 लाख रुपए तक इनकम : वित्त मंत्री ने 5 लाख रुपए तक की सालाना इनकम पर किसी भी तरह का टैक्स नहीं लगने की घोषणा की है।  यह टैक्स स्लैब में बदलाव नहीं है। टैक्स फ्री स्लैब पहले की ही तरह 2.5 लाख रुपए है। फाइनेंशियल एक्सपर्ट्स का मानना है कि  इससे ऊपर की इनकम पर टैक्स में 87ए के तहत डिडक्शन मिल सकता है। अगर इनकम 5 लाख एक हजार रुपए होती है तो यूजर को ढाई लाख के ऊपर 2.51 लाख की रकम पर टैक्स भरना पड़ेगा। उनका कहना है कि बजट पर पूरी स्थिति 2 दिन में क्लियर होगी।

5 लाख से ज्यादा सालाना इनकम होने पर : वित्त मंत्री ने बजट भाषण में कहा है कि 6.5 लाख रुपए की सालाना इनकम वाले अगर निवेश करते हैं तो उन्हें भी इनकम टैक्स में छूट मिल सकती है। इसके तहत 6.5 लाख सालाना इनकम को छूट का फायदा पाने के लिए 1.5 लाख रुपए का निवेश हर हाल में करना होगा। लोगों को यह छूट 80सी के दायरे में आने वाली बचत के तहत ही मिलेगी।

कुल 10 लाख सालाना तक की इनकम पर बच सकता है टैक्स : अगर आपकी सालाना इनकम 10 लाख रुपए है तो भी आप टैक्स से बच सकते हैं। इसके लिए आपको होम लोन में 2 लाख रुपए सालाना का ब्याज देना होगा। वहीं, 1.5 लाख रुपए 80सी की बचत योजनाओं में जमा करने होंगे। साथ ही, 50 हजार रुपए का एनपीएस कर सकते हैं। इनके अलावा 25 हजार रुपए अपनी मेडिकल इंश्योरेंस पॉलिसी, 30 हजार रुपए पैरेंट्स की मेडिकल पॉलिसी और 50 हजार रुपए की छूट एजुकेशन लोन पर मिल सकती है। इसके बाद नेट इनकम 5 लाख रुपए बचेगी, जो टैक्स फ्री रहेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App