Hindu society protest against FIR, police action against six youths in Gurgaon to stop prayers - गुड़गांव: नमाज रोकने पर 6 युवकों के खिलाफ हुई थी FIR, पुलिसिया कार्रवाई के विरोध में हिंदू संगठन का प्रदर्शन - Jansatta
ताज़ा खबर
 

गुड़गांव: नमाज रोकने पर 6 युवकों के खिलाफ हुई थी FIR, पुलिसिया कार्रवाई के विरोध में हिंदू संगठन का प्रदर्शन

प्रदर्शनकारी कमला नेहरू पार्क के पास एकत्रित हुए और मिनी सचिवालय तक मार्च निकाला। प्रदर्शनकारियों ने सचिवालय में अतिरिक्त उपायुक्त को ज्ञापन दिया और इसे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर तक पहुंचाने का अनुरोध किया।

Author April 30, 2018 10:23 PM
गुरुग्राम पुलिस ने कहा, “आरोपी वाजीराबाद और कन्हई गांव के हैं और इनका किसी दक्षिणपंथी संगठन से संबंध नहीं है। (Express photo by Manoj Kumar)

हरियाणा की ‘साइबर सिटी’ के सेक्टर-53 के एक मैदान में 20 अप्रैल को नमाज पढ़ने से रोकने वाले छह युवकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया गया था। एफआईआर के खिलाफ संयुक्त हिंदू संघर्ष समिति के तत्वावधान में यहां सोमवार को प्रदर्शन किया गया। ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाते कुछ युवकों ने नमाजियों को नमाज पढ़ने से रोका था और धमकाकर वहां से खदेड़ दिया था। इसका वीडियो वायरल होने पर छह युवकों की गिरफ्तारी हुई थी।

प्रदर्शनकारी कमला नेहरू पार्क के पास एकत्रित हुए और मिनी सचिवालय तक मार्च निकाला। प्रदर्शनकारियों ने सचिवालय में अतिरिक्त उपायुक्त को ज्ञापन दिया और इसे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर तक पहुंचाने का अनुरोध किया। एफआईआर अरुण, मनीष, दीपक, मोहित, रविंदर और मोनू के खिलाफ दर्ज किया गया था। इन पर धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने, धार्मिक अनुष्ठान में व्यवधान उत्पन्न करने और आपराधिक धमकी देने का आरोप है। इस मामले की शिकायत वाजिद खान और नेहरू युवा संगठन व वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष हाजिद शहजाद खान ने की थी।

गुरुग्राम पुलिस ने कहा, “आरोपी वाजीराबाद और कन्हई गांव के हैं और इनका किसी दक्षिणपंथी संगठन से संबंध नहीं है।” सिविल न्यायाधीश नीतिका भारद्वाज ने रविवार को इन आरोपियों को तकनीकी आधार पर रिहा कर दिया था और कहा था कि पुलिस ने इन लोगों को गिरफ्तार करने से पहले समुचित प्रक्रिया का पालन नहीं किया। अदालत ने कहा कि अधिकारियों को सरकारी जमीन पर नमाज की इजाजत नहीं देनी चाहिए थी। ‘न्यू इंडिया’ में ‘सबका साथ सबका विकास’ किस तरह होना है, यह घटना इसका ताजा नमूना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App