ताज़ा खबर
 

‘दिग्विजय सिंह की एंट्री बैन हो’, भोपाल के मंदिर में हिंदू समाज ने लगाए पोस्टर, बयानों के चलते हुआ पूर्व सीएम का विरोध

भोपाल के परशुराम मंदिर के बाहर लगे इसी तरह के एक पोस्टर पर लिखा है, 'हिंदू समाज एंटी-हिंदू दिग्विजय सिंह की मंदिर में एंट्री का विरोध करता है। उन पर प्रतिबंध लगाया जाए।'

bhopalदिग्विजय सिंह (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

सनातन हिंदू धर्म पर लगातार बयान देकर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह लोगों के विरोध के शिकार हो गए हैं। गुरुवार (19 सितंबर) को भोपाल के मंदिरों में उनके खिलाफ पोस्टर लगाए गए। प्राप्त जानकारी के मुताबिक इन पोस्टरों में उनकी मंदिरों में एंट्री पर प्रतिबंध लगाने की मांग की गई है। रिपोर्ट के मुताबिक किसी हिंदू संगठन की तरफ से लगाए गए इन पोस्टरों में दिग्विजय के बयानों का विरोध किया गया है।

इस बयान का हो रहा विरोधः सीनियर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने हाल ही में कहा था, ‘लोग भगवा कपड़े पहनकर रेप कर रहे हैं। मंदिरों में रेप हो रहे हैं। क्या यही है सनातन धर्म?’ वहीं इससे पहले उन्होंने भारतीय जनता पार्टी और बजरंग दल को निशाने पर लेते हुए एक और बयान दिया था। इस बयान में उन्होंने कहा था, ‘पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी के लिए जासूसी करने वालों में गैर मुस्लिम लोग ज्यादा हैं।’

मंदिर के पुजारी बोले- ये ठीक नहींः भोपाल के परशुराम मंदिर के बाहर लगे इसी तरह के एक पोस्टर पर लिखा है, ‘हिंदू समाज एंटी-हिंदू दिग्विजय सिंह की मंदिर में एंट्री का विरोध करता है। उन पर प्रतिबंध लगाया जाए।’ इंडिया टुडे के मुताबिक मंदिर के पुजारी ने कहा, ‘मुझे इसके बारे में सुबह उस वक्त जानकारी मिली जब कुछ लोग मेरे पास आए। मंदिरों में इस तरह के पोस्टर नहीं लगाए जाने चाहिए। इस तरह की चीजों के लिए कई सार्वजनिक स्थान हैं।’ हालांकि उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह ने जो कहा वो ठीक नहीं है।

National Hindi News, 19 September 2019 LIVE Updates: खास खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Mumbai Rains, Weather Forecast Today Live Updates: मौसम से जुड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

गौरतलब है कि दिग्विजय सिंह अपने बयानों के चलते लगातार सुर्खियों में हैं। अरसे बाद चुनावी राजनीति में सक्रियता से उतरे दिग्विजय ने भोपाल से ही बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के खिलाफ लोकसभा चुनाव लड़ा था। हालांकि इस चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था। हाल ही में कमल नाथ सरकार के कामकाज में उनके कथित हस्तक्षेप को लेकर उन्हें उनकी ही पार्टी के नेताओं ने निशाने पर लिया था।

Next Stories
1 करीना का जन्मदिन मनाने पटौदी पहुंचे सैफ अली खान, अपने ही घर का रास्ता भूले
2 प्रियंका गांधी ने सीएम योगी पर बोला हमला, कहा- उन्नाव की तरह चिन्मयानंद को भी संरक्षण दे रही बीजेपी सरकार
3 150 की रफ्तार से चल रही थी Vande Bharat, बाहर से पत्थर फेंका तो C8 कोच के शीशे टूटे, घबरा गए यात्री
ये पढ़ा क्या?
X