ताज़ा खबर
 

नवरात्रि से पहले सक्रिय हुए दक्षिणपंथी संगठन, मीट की दुकानें बंद कराने की तैयारी

संयुक्त संघर्ष समिति समेत अन्य कई हिंदू संगठनों ने बुधवार को गुरुग्राम में डेप्यूटी कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा जिसमें कहा गया था कि धार्मिक भावनाओं का लिहाज करते हुए नवरात्रि तक मीट की दुकानें बंद रखी जाए।

Author April 4, 2019 12:31 PM
संयुक्त संघर्ष समिति समेत अन्य कई हिंदू संगठनों ने बुधवार को गुरुग्राम में डेप्यूटी कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा जिसमें कहा गया था कि धार्मिक भावनाओं का लिहाज करते हुए नवरात्रि तक मीट की दुकानें बंद रखी जाए।(फोटो सोर्स-Indian Express)

नवरात्रि की शुरुआत से पहले ही दक्षिणपंथी संगठन मीट की दुकानें बंद कराने की तैयारी में जुट गए हैं। बीते साल मीट की दुकाने बंद कराने की बात कह चुके संयुक्त संघर्ष समिति समेत अन्य कई हिंदू संगठनों ने बुधवार को गुरुग्राम में डेप्यूटी कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा जिसमें कहा गया था कि धार्मिक भावनाओं का लिहाज करते हुए नवरात्रि तक मीट की दुकानें बंद रखी जाए।

डेप्यूटी कमिश्नर अमित खत्री को दिए गए ज्ञापन में लिखा गया है, नवरात्रि का शुभारम्भ 6 अप्रैल 2019 से हो रहा है। इन दिनों को शुभ दिन के तौर पर माना जाता है और पूजा पाठ किया जाता है। आप लोगों को भी पता होगा कि मीट खुले में बिकता है ऐसे में आप से अपील है कि ऐसी दुकानों को चिन्हित करें और नवरात्रि के दौरान मीट का बिक्री पर रोक लगाएं। इसके अलावा कहा गया कि शीतला माता मंदिर से 1 किलोमीटर तक की दूरी पर कोई भी मीट या शराब की दुकान का संचालन नवरात्रि के दौरान ना हो।

हालांकि इस मामले को लेकर खत्री का कहना है कि, “नगर निकाय अधिनियम के प्रावधानों के आधार पर, नागरिक निकाय को इस पर फैसला करना होगा।वहीं ,अखिल भारतीय हिंदू क्रांति गल के जनरल सेक्रेटरी राजीव मित्तल का कहना है कि हम कमिश्रनर से शुक्रवार को मिलेंगे। बता दें कि पिछले साल अक्तूबर में भी हिंदू दलों ने नवरात्रि के दौरान मीट की दुकानें बंद रखने की अपील की थी। वहीं दुकानों के मालिकों का कहना था कि जबरदस्ती उनकी दुकानें बंद कराई गई थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App