जहां गोडसे को दी गई थी फांसी उसी अंबाला जेल से मिट्टी लाई हिंदू महासभा, अध्यक्ष बोले- गांधी की हत्या करके लाखों हिंदुओं का लिया था बदला

नाथूराम गोडसे की महिमामंडन के लिए चर्चाओं में रहने वाली हिन्दू महासभा ने अब अंबाला जेल से उस मिट्टी को ग्वालियर लेकर आई है, जहां गोडसे को फांसी दी गई थी। इसके साथ ही गोडसे के अंतिम बयान को भी प्रचार करने की तैयारी संगठन कर रहा है।

Godse, gandhi, hindu mahasabha
गोडसे अध्ययन माला कार्यक्रम का हिन्दू महासभा ने किया शुभारंभ (फाइल फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

बापू के हत्यारे नाथूराम गोडसे का महिमामंडन के कार्यक्रम को आगे बढ़ाते हुए हिन्दू महासभा अब उस जेल की मिट्टी लेकर ग्वालियर पहुंची है, जहां उसे बंद रखा गया गया था। इसके साथ ही महासभा गोडसे के आखिरी बयान को प्रसार-प्रसार करने की तैयारी कर रही है।

ग्वालियर में बुधवार को हिन्दू महासभा ने गोडसे अध्ययन माला कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयवीर भारद्वाज ने कहा कि गोडसे ने महात्मा गांधी की हत्या करके लाखों हिन्दूओं का बदला लिया था। भारद्वाज ने कहा- “मोहम्मद अली जिन्ना और नेहरू जी के प्रधानमंत्री बनने की जिद के कारण गांधी जी ने देश का विभाजन किया”। इसी का प्रतिकार करने के लिए, नाथूराम गोडसे को अंबाला की जेल में फांसी दी गई।

उन्होंने आगे कहा- “अंबाला की जेल का निरीक्षण करने के बाद मैंने वहां से बलिदानी की मिट्टी को लेकर यहां आया हूं। हमारा इसके पीछे सीधे-सीधे कहना है… जो गोडसे बयान अध्यन माला का शुभारंभ किया है, उसके पीछे भी एक ही कारण है कि हम जन-जन तक ये बता देना चाहते हैं कि गोडसे जी ने अंतिम बयान में कहा था कि उन्होंने गांधीजी का अंत इसलिए किया, क्योंकि विभाजन के समय के दृश्य के वो सहन नहीं सके और गांधी का अंत कर दिया”।

मीडिया से बात करते हुए जयवीर भारद्वाज ने कहा कि गोडसे की यही राष्ट्रभक्ति वो जन-जन तक पहुंचाना चाहते हैं। क्योंकि देश की आजादी में सात लाख बत्तीस हजार लोगों ने कुर्बानियां दी हैं। तब देश को आजादी मिली।

इससे पहले भी हिन्दू महासभा ग्वालियर में अपने गोडसे प्रेम के कारण चर्चाओं में बनी रही है। कभी गोडसे की मूर्ति को लेकर तो कभी उनके ऊपर लाइब्रेरी बनाने को लेकर। हिन्दू महासभा के इन कार्यों को लेकर कांग्रेस हमेशा से ही राज्य सरकार पर हमलावर रही है। कांग्रेस, राज्य सरकार और भाजपा पर ऐसे कृत्यों को बढ़ाने का आरोप भी लगाती रही है। हालांकि जैसे ही मामले सामने आते हैं, प्रशासन उसपर कार्रवाई भी करती दिखी है। अब एक बार फिर से राज्य की राजनीति हिन्दू महासभा के इस कदम से गरमा सकती है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट