ताज़ा खबर
 

दाऊद इब्राहिम की संपत्ति खरीदना चाहती है हिंदू महासभा, सुप्रीम कोर्ट के वकील ने भी लगाई बोली

दक्षिणी मुंबई में द स्मगलर्स एंड फॉरेन एक्सचेंज मैनिपुलेटर्स के दफ्तर में तमाम खरीदारों के सवाल आ रहे थे। वे दाऊद की तीन संपत्तियों को खरीदने को लेकर जानकारी मांग रहे थे।

दाऊद इब्राहिम की संपत्ति खरीदना चाहती है हिंदू महासभा, सुप्रीम कोर्ट के वकील ने भी लगाई बोली

भारत के मोस्ट वांटेड अपराधी दाऊद इब्राहिम की तीन संपत्तियां नीलाम होने जा रही हैं। मंगलवार को इस बाबत दक्षिणी मुंबई में द स्मगलर्स एंड फॉरेन एक्सचेंज मैनिपुलेटर्स के दफ्तर में तमाम खरीदारों के सवाल आ रहे थे। वे दाऊद की उन्हीं तीन संपत्तियों को खरीदने को लेकर जानकारी मांग रहे थे। बोली लगाने वालों में से हिंदू महासभा और सुप्रीम कोर्ट का एक वकील भी शामिल है। अधिकारियों ने इस संबंध में मंगलवार को तीनों संपत्तियों के नीरिक्षण का बंदोबस्त भी कराया। बोली लगाने वाले इच्छुक लोग इसके बाद वहां पहुंचे और 11 बजे से एक बजे के बीच उन्हें तीनों संपत्तियों का जायजा लेने दिया गया।

हिंदू महासभा के कार्यवाहक अध्यक्ष डॉ. इंदिरा तिवारी ने बताया कि वह नीलामी में सफल रहे। इन संपत्तियों का इस्तेमाल गरीब बच्चों के लिए स्वास्थ्य संबंधी सेवाएं मुहैया कराने वाले केंद्र या फिर जरूरतमंदों के लिए रैन बसेरे के तौर पर किया जाएगा। उन्होंने कहा, “दाऊद तो स्मगलर है। व्यवस्था ने उसे गैंगस्टर बना दिया। सरकारें भी उसे पकड़ने में नाकामयाब रहीं। हम उसकी संपत्तियां खरीद कर इसे मुद्दा बनाने की कोशिश नहीं कर रहे, बल्कि बड़े स्तर पर सिस्टम से लड़ रहे हैं।” साल 2015 में नीलामी में हिंदू महासभा ने दाऊद की एक कार खरीदी थी। तिवारी के मुताबिक, उसे दाऊद और उसके गुर्गों को सबक सिखाने के लिए खरीदा गया था।

हिंदू महासभा के अलावा नीलामी में सुप्रीम कोर्ट के एक वकील ने भी बोली लगाई है। दिल्ली के रहने वाले उपेंद्र कुमार भारद्वाज ने बताया कि इस नीलामी के लिए बैंक से लोन लेंगे। उन्होंने कहा, “मैं उस कुख्यात गैंगस्टर को यह संदेश देना चाहता हूं कि अब हम उसके डर के साए में नहीं जीते हैं।” 14 नवंबर को होने वाली नीलामी में दाऊद की तीन संपत्तियों में दमारवाला इमारत के छह फ्लैट (कमरा नंबर 18-20, 25, 26 और 28), 33 पाकमोडिया स्ट्रीट पर होटल रौनक अफरोज और भिंडी बाजार में शबनम गेस्ट हाउस शामिल हैं। दमारवाला इमारत वाली संपत्ति दाऊद के पुरखों की बताई जाती है। 1986 में देश से भागने से पहले वह यहीं पर परिवार के साथ रहता था।

मुंबई में एसएएफईएमए/एनडीपीएस एक्ट के तहत सक्षम प्राधिकारी और प्रशासक के दफ्तर ने दमारवाला इमारत के छह फ्लैटों की कीमत 1.55 करोड़ रुपए रखी है। जबकि होटल रौनक अफरोज के लिए यह रकम 1.18 करोड़ रखी गई है। दमारवाला वाली संपत्ति के लिए बयाने के तौर पर खरीदार को 62.3 लाख रुपए जमा कराने होंगे। वहीं, होटल रौनक के लिए यह राशि 23.72 लाख रुपए है। उधर, शबनम गेस्ट हाउस की कुल कीमत 1.21 करोड़ रुपए रखी गई है और इसके लिए बयाने के रूप में 48.7 लाख रुपए चुकाने होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App