ताज़ा खबर
 

जस्टिस काटजू ने हिंदी को बताया बंटवारे की भाषा, भड़के कुमार विश्वास, कहा- आपके इस जन्म में असफल पदार्पण का तर्पण करता हूं

Kumar Vishwas Markandey Katju Hindi Diwas 2019 Hindi Day: जस्टिस काटजू ने अपने लेख में लिखा था कि है, हिंदी आम आदमी की भाषा नहीं है क्योंकि यह एक काल्पनिक तौर पर बनाई गई भाषा है। उन्होंने लिखा कि कथित हिंदी बेल्ट में भी आम आदमी इस भाषा का इस्तेमाल नहीं करता है।

Author नई दिल्ली | Updated: September 18, 2019 6:03 AM
कुमार विश्वास। फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस

हिंदी दिवस के दिन जस्टिस मार्कंडेय काटजू के ट्वीट के बाद मशहूर कवि कुमार विश्वास ने उनपर तंज कसा। उन्होंने ट्विटर पर काटजू को जवाब देते हुए कहा- हे चिर मुख अतिसार व्याधि पीड़ित। बता दें कि काटजू ने एक लेख लिखा था, जिसमें उन्होंने हिंदी को आम आदमी की भाषा मानने से इनकार करते हुए कहा था कि हिंदी को अंग्रेजों ने हम भारतीयों को बांटने के लिए बनाया था। इसके बाद कुमार विश्वास ने उन पर पलटवार करते हुए ट्विटर पर हमला बोला।

क्या बोले कुमार विश्वास: जस्टिस काटजू ने हिंदी को बंटवारे की भाषा बताते हुए कुमार विश्वास को एक खबर टैग की थी। इसके जवाब में कुमार ने लिखा- “हे चिर मुख अतिसार व्याधि पीड़ित ! अपनी अज्ञानोत्पादित अंखड अहमन्यताओं के इस अविरल मलप्रवाह में मेरे ट्वीटर को अकारण टैग करने की इस नव्य निकृष्टता हेतु मैं श्राद्ध के प्रथम दिन आपके इस जन्म में असफल पदार्पण का विधानपूर्वक तर्पण करता हूं स्वीकार करें।” बता दें कि इसके बाद हिंदी को लेकर जस्टिस काटजू और कुमार विश्वास में ‘ट्विटर वॉर’ शुरू हो गया। हालांकि काटजू ने इसके जवाब में कई ट्वीट किए लेकिन अभी तक विश्वास का दूसरा जवाब नहीं आया है।

National Hindi News 15 September 2019 LIVE Updates: देश और दुनिया के खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्या था काटजू का लेख: जस्टिस काटजू ने अपने लेख में लिखा था कि है, हिंदी आम आदमी की भाषा नहीं है क्योंकि यह एक काल्पनिक तौर पर बनाई गई भाषा है। उन्होंने लिखा कि कथित हिंदी बेल्ट में भी आम आदमी इस भाषा का इस्तेमाल नहीं करता है।

कुमार का अभी तक आया जवाब: जस्टिस काटजू ने कुमार के जवाब के बाद एक के बाद एक कई ट्ववीट किया लेकिन अभी तक कुमार विश्वास का कोई जवाब नहीं आया है। काटजू ने अपने ट्वीट में लिखा- अरे, कहां अंतर्ध्यान हो गए भगवान? आपके मुखारबिंदु से कुछ ज्ञान लाभ तो प्राप्त हो जाए। आप मेरे संकट मोचन हैं, बावजूद इसके की आपकी कोई दम नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Engineers Day 2019: कभी ईंट भट्टे में परिवार संग करते थे बंधुआ मजदूरी, आज Computer Science से है इंजीनियर तो दूसरा BSC इलेक्ट्रॉनिक्स का स्टूडेंट
2 VIDEO: लड़की के साथ कर रहा था नागिन डांस, सिर के बल गिरा और हो गई मौत
3 लोकसभा पैनल की चेतावनी के बावजूद 82 पूर्व सांसदों ने खाली नहीं किए आधिकारिक बंगले