ताज़ा खबर
 

जवानों की पत्नियों को अपने सामने नचाती है ब्रिगेडियर की बीवी- पर्चा बांट कर लगाया आरोप, सेना ने शुरू की जांच

सैनिकों को ये पर्चे बांटे जाने के बाद इन्हें सेना के व्हाट्सऐप और फेसबुक ग्रुप पर बहुत शेयर किए जा रहा है।

Author धर्मशाला | Updated: December 3, 2017 11:13 AM
भारतीय सेना की प्रतीकात्मक तस्वीर।

हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में शुक्रवार को पर्चे बांटे गए जिनके द्वारा एक आर्मी ऑफिसर और उसकी पत्नी पर जवानों के साथ बदसलूकी करने का आरोप लगाया जा रहा है। इन पर्चों के जरिए अधिकारियों की छवि को खराब करने और सेना के मनोबल को तोड़ने का काम किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक सूबे के कैम्प में अधिकारियों और अन्य पुरुषों को सुबह के अखबार के साथ इन पर्चों को बांटा गया था, जिसके लिए एक अज्ञात व्यक्ति ने फेरीवाले को 200 रुपय दिए थे। सैनिकों को ये पर्चे बांटे जाने के बाद इन्हें सेना के व्हाट्सऐप और फेसबुक ग्रुप पर बहुत शेयर किए जा रहा है।

इन पर्चों के जरिए दावा कर ब्रिगेडियर की पत्नी पर आरोप लगाया जा रहा है की वह अपने सामने जवानों की पत्नियों को नचवाती थी और वरिष्ठ अधिकारीयों द्वारा उन्हें किसी भी प्रकार की स्वास्थ्य सुविधा नहीं प्रदान की जाती है। इतना ही नहीं इसमें यह भी आरोप लगाया गया है की जवानों को योल छावनी स्थित अस्पताल जाने के लिए भी कोई वाहन नहीं दिया जाता है और अगर वे किसी वरिष्ठ अधिकारी के घर जाते हैं तो उनके साथ बहुत ही बुरा व्यवहार किया जाता है। इसके अलावा यह भी आरोप लगाया गया है कि ब्रिगेडियर और उसकी पत्नी जवानों का खूब मजाक उड़ाते हैं। वे एक सैनिक बल के सामने दूसरे सैनिक बल की बहुत खिल्ली उड़ाते हैं। सूत्रों का कहना है कि इन पर्चों को देखकर ऐसा लगता है कि यह धर्मशाला छावनी के जवानों द्वारा लिखा गया है।

पर्चों में अधिकारियों और जवानों के बीच की समस्या को दर्शाया जा रहा है। इसमें यह शिकायत भी की गई है कि जवानों के पास उचित आवास तक नहीं है। वहीं ब्रिगेड कमांडर अपने आधिकारिक घर पर 60 लाख रुपए तक का खर्चा करते हैं। इन पर्चों के तेजी से सोशल मीडिया पर शेयर करने के बाद लोग ब्रिगेडियर और उसकी पत्नी की कड़ी आलोचना कर रहे हैं। सेना मुख्यालय द्वारा इस मामले की जांच के निर्देश दे दिए गए है। मेल टुडे के अनुसार सैन्य सूत्रों ने बताया कि शुरुआती जांच में यह पता चला है कि यह काम धर्मशाला मिलिट्री स्टेशन के दो अधिकारियों का है जिन्हें ब्रिगेडियर ने अपना काम ठीक से न करने के लिए सुना दिया था। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि इन पर्चों में जो बात कही गई है उसमे कोई भी सच्चाई नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 लेफ्टिनेंट कर्नल की बेटी से रेप, आरोपी कर्नल गिरफ्तार
2 दो प्रधानमंत्रियों की पसंदीदा सैरगाह रही है मनाली
3 Himachal Pradesh Election 2017 UPDATE: बीजेपी के सीएम उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल का दावा, 60 सीट जीतकर बनाएंगे सरकार