ताज़ा खबर
 

बेनामी संपत्ति के खिलाफ कार्रवाई का संकेत देते हुए मोदी ने कहा- दीमक की तरह है कांग्रेस

उन्होंने कहा कि आने वाले कई बरसों तक कांग्रेस सूक्ष्मदर्शी यंत्र से देखने पर भी हिमाचल में कहीं नजर नहीं आएगी।

Author धर्मशाला/मंडी | November 5, 2017 03:17 am
प्रधानमंत्री मोदी हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा में जनसभा को संबोधित करते हुएं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को हिमाचल के अपने तूफानी दौरे में जनसभाओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर तीखे हमले करते हुए इसकी तुलना दीमक से की और पार्टी को तीन चौथाई सीटें दिलाने की अपील की। जनसभाओं में उन्होंने बेनामी संपत्ति के खिलाफ कार्रवाई का भी वादा किया।
कांगड़ा जिले के शाहपुर हलके के चंबी मैदान में जुटी भीड़ से उत्साहित मोदी अपने बयालीस मिनट के भाषण के दौरान पूरे रंग में दिखे मोदी ने मोदी ने हिमाचल में भाजपा के लिए तीन चौथाई बहुमत की मांग करते हुए कांग्रेस की तुलना दीमक से की और कहा कि इस दीमक का पूरी तरह सफाया करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि वे यहां भाजपा की जीत के लिए नहीं बल्कि तीन चौथाई बहुमत मांगने आए हैं क्योंकि जब तक आप लोग कांग्रेस को सजा नही देंगे, यह सुधरने वाली नहीं। गगल हवाई अड्डे से लेकर चंबी के मैदान तकउमड़े हूजूम से मुखातिब मोदी ने कहा कि कांग्रेस मैदान खो चुकी है। उसने पराजय स्वीकार कर ली है। और ऐसा लग रहा है कि उन्होंने वीरभद्र सिंह को उनके हाल पर छोड़ा नहीं बल्कि टांग दिया है। जनता जब देती है तो छप्पर फाड़ कर देती है लेकिन जब तीसरा नेत्र खोलती है तो अन्याय और खिलवाड़ करने वालों को भस्म कर देती है। मैं हिमाचल के चुनाव में यह साफ देख रहा हंू। उन्होंने कहा कि आने वाले कई बरसों तक कांग्रेस सूक्ष्मदर्शी यंत्र से देखने पर भी हिमाचल में कहीं नजर नहीं आएगी।

प्रधानमंत्री ने मंडी जिले के सुंदरनगर के जवाहर पार्क में परिवर्तन रैली को संबोधित करते हुए बेनामी संपत्तियों को लेकर कार्रवाई का संकेत दिया और कहा कि कांग्रेस परेशान है क्योंकि इस तरह की कार्रवाई में उसके नेताओं की ऐसी सपंत्तियों को छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा- नोटबंदी के विरूद्ध कांग्रेस का अभियान उनके बेनामी संपत्तियों पर धावा बोलने से पहले लोगों को गुमराह करने और उनके खिलाफ माहौल तैयार करने के प्रयासों का हिस्सा है। पर समय आ गया है कि गरीबों को वह लौटाया जाए जो उनसे लूटा गया है…मैं ऐसे हालात पैदा करने जा रहा हूं जहां वे (कांग्रेस नेता) बेनामी संपत्तियों पर फिर से दावा नहीं कर सकेंगे। आगामी आठ नवंबर को नोटबंदी को एक साल पूरा होने के मौके पर कांग्रेस के काला दिवस मनाने के फैसले को लेकर कटाक्ष करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि असल में यह विपक्षी दलों के लिए ‘कालाधन दिवस’ है।

मोदी ने कहा- मैंने कांग्रेस नेताओं से कुछ सूचना हासिल करने का प्रयास किया…कुछ लोगों ने 500 रुपये के नोटों वाला थैला गंवा दिया, कुछ ने 1,000 रुपए के नोटों वाला। इसी दौरान मोदी बेनामी कानून के साथ आ गया। उनकी परेशानी यह है कि मोदी नतीजे दिखाना शुरू कर देगा। ऐसे में वे बेनामी संपत्ति पर मोदी के तूफान खड़ा करने से पहले इस तरह का माहौल तैयार कर रहे हैं ताकि वे कालाधन दिवस मनाएं और लोगों को गुमराह करें। पर मैं ऐसे हालात पैदा करने जा रहा हूं कि वे इन संपत्तियों पर फिर से दावा नहीं कर सकेंगे। जनता से लूटा गया पैसा उनके कल्याण पर खर्च किया जाएगा। देश की जनता ने मुझे भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री की गद्दी पर बैठाया है, कोई मौज मस्ती करने के लिए नहीं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App