ताज़ा खबर
 

पीएम किसान योजना का पैसा खाते में तो आया, पर दो दिन बाद हो गया गायब

राज्य राजस्व विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, उन लोगों ने योजना के तहत दी जानी वाली रकम पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के जरिए ट्रांसफर की थी। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि आखिर वे पैसे गए कहां?

Kisan Samman Nidhi, Farmers, Una, Himachal Pradesh, Money, 2000 Rupees, Bank Accounts, Vanish, Bangana, Central Bank, Evidence, Revenue Department, Officials, Claim, Government, PNB, Transfer, State News, National News, Hindi Newsतस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस फोटोः गजेंद्र यादव)

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत कई लोगों के खातों में 2000 रुपए आए, पर दो दिन के भीतर ही वह रकम खाते से गायब हो गई। यह मामला हिमाचल प्रदेश के ऊना का है। स्थानीय अखबारों के हवाले से बिजनेस स्टैंडर्ड की रिपोर्ट में कहा गया कि वहां के बंगना इलाके में सेंट्रल बैंक में खाता रखने वाले कई किसानों के अकाउंट में 2000 रुपए आए, जबकि दो दिनों बाद वह रकम वापस चली गई।

किसानों ने इस बाबत राजस्व विभाग के अधिकारियों को प्रमाण दिखाया, ताकि उन्हें योजना के तहत मिलने वाली रकम मिल जाए। किसानों ने जब इस बारे में बैंक अधिकारियों से बात की, जवाब मिला, “हमारी इसमें कोई भूमिका नहीं है। पैसा सरकार की तरफ से ट्रांसफर किया गया, जबकि वापस भी उन्होंने ही लिया।”

वहीं, राज्य राजस्व विभाग के अधिकारियों के मुताबिक, उन लोगों ने योजना के तहत दी जानी वाली रकम पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के जरिए ट्रांसफर की थी। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि आखिर वे पैसे गए कहां? साथ ही क्या वह वापस लौटकर आएंगे? हालांकि, पीड़ित किसानों ने इस संबंध में अभी तक किसी प्रकार की शिकायत नहीं दर्ज कराई है।

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो झारखंड के लातेहार में पीएम किसान योजना को लेकर गड़बड़ी देखने को मिली। वहां भोला साव नामक किसान के खाते में सम्मान के तौर पर 2000 रुपए के बजाय 40.90 रुपए भेजे गए है। यह रकम उन्हें डीबीटी के जरिए हासिल हुई। कामता, कुजरी गांव में रहने वाले भोला ने इसकी शिकायत किसान नेता अयूब खान से की। मामला सीओ मुमताज अंसारी तक पहुंचा।

भोला के हवाले से रिपोर्ट्स में कहा गया- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने के लिए उन्होंने आवेदन किया था। कागजी प्रक्रिया पूरी कर राजस्व विभाग के कर्मचारियों ने ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया पूरी की थी। फिर सात मार्च 2019 को उनके स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की चंदवा शाखा के अकाउंट में 40.90 रुपये डीबीटी आये, जिसका मैसेज उनके मोबाइल नंबर पर भी आया, जबकि पहली किस्त में उन्हें दो हजार रुपए मिलने चाहिए थे।

Next Stories
1 Air Strike पर बोले राजनाथ- धरती, पाताल और आसमान भी हमें नहीं रोक सकते, हम जानते हैं कितने मजबूत हैं PM मोदी
2 कमलनाथ ने किया बैंड ट्रेनिंग स्कूल का ऐलान तो शिवराज बोले- ‘समय काटू’ मिशन चला रही सरकार
3 CISF जवानों ने पानी की बौछार से बनाया तिरंगा, खूबसूरत नजारा देख यूं खुश हुए पीएम मोदी, देखें वीडियो
ये पढ़ा क्या?
X