ताज़ा खबर
 

हिमाचल में कुदरत का कोहराम: स्‍टैंड पर खड़ी बस तेज बहाव में बह गई, देखें वीडियो

पानी के सैलाब में संभवत: नदी के किनारे की मिट्टी धीरे-धीरे बहती रही और इसी कारण किनारे खड़ी बस मिट्टी के बह जाने से नदी के पानी में खिसक जाती हैं और तेज बहाव में ऐसे बह जाती है कि जैसे यह हजारों किलो वजन की बस न हो, कोई तिनका हो।

नदी में तिनके की तरह बह जाने वाली बस का वीडियो खूब शेयर किया जा रहा है। (Image Source: Ypuyube/Indian Duker)

हिमाचल प्रदेश के मनाली में एक टूरिस्ट बस ने जल समाधि ले ली। हिमाचल में जारी भारी बारिश के सभी नदिया उफान पर हैं। इस टूरिस्ट बस को ब्यास नदी अपने प्रचंड बहाव में बहा ले गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बस जिस वक्त बही तो यह गनीमत रही कि उसमें एक भी यात्री सवार नहीं था। बहने के बहने का यह वीडियो कई सोशल मीडिया और मीडिया के माध्यम से साझा किया जा रहा है। वीडियो में कैद जल प्रलय की घटना का डरावना मंजर दिखाई देता है। वीडियो के अंत में कुछ लोग यह कहते सुनाई दे रहे है उन्होंने इस दुर्गटना के बारे में सचेत किया था लेकिन ध्यान नहीं दिया गया। नदी के तेज बहाव में बस के बहने की यह घटना रविवार (23 सितंबर) की है। बताया जा रहा है कि वोल्वो कंपनी की बस को नदी बहा ले गई। वीडियो में कुछ लोग बस के पास खड़े दिखाई देते हैं। बस नदीं के एकदम किनारे जमीन पर खड़ी दिखाई देती है।

यह संभवत: किसी बस स्टैंड का इलाका है क्योंकि पास में एक और बस खड़ी दिखाई देती है। पानी के सैलाब में संभवत: नदी के किनारे की मिट्टी धीरे-धीरे बहती रही और इसी कारण किनारे खड़ी बस मिट्टी के बह जाने से नदी के पानी में खिसक जाती हैं और तेज बहाव में ऐसे बह जाती है कि जैसे यह हजारों किलो वजन की बस न हो, कोई तिनका हो। पास खड़ा कोई शख्स पानी में बहती हुई बस का वीडियो बना लेता है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राज्य के कुल्लू में तीन जगह और पालमपुर में बादल फटने और लगातार बारिश होने से भयावह हालात बन गए हैं। कुल्लू जिला प्रशासन की ओर से बताया गया है कि फोजल, धुंधी और लगवैली इलाकों में बादल फटने से ब्यास नदीं उफना गई है। बस के बहने के पहले ऐसी खबरें भी आई थीं कि दो ट्रक भी तेज बहाव में बह गए।

बता दें कि रविवार को बादल फटने के कारण कुल्लू के कई इलाकों में हालात भंयकर हैं। जल प्रलय के कारण स्कूलों की छुट्टी की गई और राहत-बचाव के लिए सेना की मदद ली जा रही है। नौ जिलों कुल्लू, मंडी, चंबा, सिरमौर, कांगड़ा, हमीरपुर, लाहौल, बिलासपुर और किन्नौर में हाई अलर्ट घोषित किया गया है। घंरों में फंसे लोगों को सेना के हेलीकॉप्टर्स की मदद से निकाला जा रहा है। ब्यास नदी के किनारे बसे लोगों ने सुरक्षित जगहों के लिए पलायन कर लिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App