ताज़ा खबर
 

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव: 158 करोड़पति, 31 हत्या और अपहरण के आरोपी उम्मीदवार

रपट के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव-2017 में दो निर्वाचन क्षेत्र ऐसे हैं, जहां राजनीतिक दलों के तीन अथवा तीन से अधिक उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं।
Author नई दिल्ली | November 1, 2017 20:47 pm
हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में उतरे कुल 338 उम्मीदवारों में से 61 उम्मीदवारों (18 प्रतिशत) ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं।

हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनावों में उतरे कुल 338 उम्मीदवारों में से 61 उम्मीदवारों (18 प्रतिशत) ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं, जबकि 31 उम्मीदवारों ने (9 प्रतिशत) अपने ऊपर गंभीर आपराधिक मामले चलने की जानकारी दी है। निर्वाचन क्षेत्र दून से कांग्रेस के उम्मीदवार राम कुमार ने अपने ऊपर हत्या (भादंस-302) से संबंधित मामला घोषित किया है, जबकि दो उम्मीदवारों ने हत्या के प्रयास (भादंस-307) से संबंधित मामले घोषित किए हैं। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म्स और हिमाचल प्रदेश इलेक्शन वाच ने हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव-2017 में चुनाव लड़ने वाले सभी 338 उम्मीदवारों के शपथ-पत्रों के विश्लेषण पर आधारित जारी रपट में यह जानकारी दी।

एडीआर और इलेक्शन वॉच की विश्लेषण रपट के अनुसार, कांग्रेस के कुल 68 उम्मीदवारों में से छह (नौ प्रतिशत), भाजपा के 68 उम्मीदवारों में से 23 (34 प्रतिशत), बसपा के 42 उम्मीदवारों में से तीन (सात प्रतिशत), माकपा के 14 उम्मीदवारों में से 10 (71 प्रतिशत) और 112 निर्दलीय उम्मीदवारों में से 16 (14 प्रतिशत) उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले चलने की घोषणा की है। इसी प्रकार कांग्रेस के तीन, भाजपा के नौ, बसपा के दो, माकपा के नौ और कुल छह निर्दलीय उम्मीदवारों ने अपने ऊपर गंभीर अपराधिक मामले घोषित किए हैं, जिसमें हत्या, हत्या का प्रयास और अपहरण जैसे मामले शामिल हैं।

रपट के मुताबिक, हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव-2017 में दो निर्वाचन क्षेत्र ऐसे हैं, जहां राजनीतिक दलों के तीन अथवा तीन से अधिक उम्मीदवारों ने अपने ऊपर आपराधिक मामले घोषित किए हैं। हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव-2017 में कुल 55 उम्मीदवारों ने पांच करोड़ रुपये अथवा इससे अधिक की संपत्ति घोषित की है, जो इस चुनाव के कुल उम्मीदवारों का 16 प्रतिशत है। दो करोड़ से पांच करोड़ की संपत्ति वाले कुल 16 प्रतिशत उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं, जबकि 10 लाख से कम संपत्ति वाले उम्मीदवारों की संख्या 53 है, जो कुल उम्मीदवारों का 16 प्रतिशत है।

इस प्रकार से हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में इस बार कुल 338 में से 158 उम्मीदवार करोड़पति हैं, जो कुल उम्मीदवारों का 47 प्रतिशत है। विधानसभा चुनाव में उतरने वाले सबसे ज्यादा करोड़पति उम्मीदवार कांग्रेस पार्टी के हैं। इसके 68 उम्मीदवारों से 59 उम्मीदवार करोड़पति हैं, जबकि भाजपा के 68 उम्मीदवारों में से 47 उम्मीदवार करोड़पति हैं। उल्लेखनीय है कि 68 सदस्यीय हिमाचल प्रदेश विधानसभा के लिए नौ नवंबर को चुनाव होगा और परिणाम 18 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.