ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर : बड़ी संख्या में आतंकियों की घुसपैठ की आशंका, हाई अलर्ट पर सुरक्षा बल

अधिकारियों बताया कि सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रहने और समूचे राज्य में संवेदनशील सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर नजर बनाए रखने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि एक बार में इतनी बड़ी संख्या में आतंकवादियों का घुसपैठ करना असामान्य बात है। यह कश्मीर को सुलगता रखने की मंशा रखने वाले नियंत्रण रेखा के पार बैठे उनके आकाओं की हताशा दर्शाता है।

Author June 2, 2018 4:55 AM
सेना के जवानों की फाइल फोटो।

घाटी में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पार से भारी तादाद में आतंकवादियों की घुसपैठ की रिपोर्ट के बाद जम्मू कश्मीर में सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट कर दिया गया है। अधिकारियों ने यहां शुक्रवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि हाल में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से प्रदेश में 20 से अधिक आतंकवादियों के घुसपैठ करने की रिपोर्ट है। उन्होंने बताया कि समझा जाता है कि अधिकतर आतंकवादी जैश-ए-मोहम्मद आतंकवादी संगठन के हैं, जिसका सरगना मौलाना मसूद अजहर है। अधिकारियों बताया कि सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रहने और समूचे राज्य में संवेदनशील सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर नजर बनाए रखने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि एक बार में इतनी बड़ी संख्या में आतंकवादियों का घुसपैठ करना असामान्य बात है। यह कश्मीर को सुलगता रखने की मंशा रखने वाले नियंत्रण रेखा के पार बैठे उनके आकाओं की हताशा दर्शाता है।

इस बीच आतंकवादियों ने शुक्रवार को पुलवामा में सत्तारूढ़ पीडीपी के विधायक के आवास पर ग्रेनेड से हमला किया। अनंतनाग में एक ऐसे ही दूसरे ग्रेनेड हमले में चार लोग घायल हो गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलवामा में तराल से विधायक मुश्ताक शाह के आवास पर आतंकवादियों ने हथगोले से हमला किया। यह हथगोला बगीचे में फटा और इसमें कोई हताहत नहीं हुआ । उन्होंने बताया कि घटना के वक्त विधायक अपने आवास पर मौजूद नहीं थे।

शाह जम्मू कश्मीर में भाजपा के साथ गठबंधन सरकार में शामिल पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के विधायक हैं। अनंतनाग जिले के खानबल में दोपहर को सीआरपीएफ के जवानों पर आतंकवादियों ने हमला किया। इसके विस्फोट में दो सीआरपीएफ कर्मियों सहित चार लोग घायल हो गए। अधिकारियों ने बताया कि सभी घायलों की हालत स्थिर है। उन्होंने बताया कि हमलावरों को पकड़ने के लिए अभियान चलाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App