ताज़ा खबर
 

तमिलनाड़ू में जारी बारिश का कहर, 122 हुई मृतकों की संख्या

तमिलनाडु और पड़ोसी पुडुचेरी के कई क्षेत्रों में रविवार को भी बारिश हुई। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले 24 घंटे में और बारिश हो सकती है क्योंकि निम्न दबाव का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी से खिसककर कन्याकुमारी के समीप आ गया है।

Author चेन्नई | November 23, 2015 3:42 AM

तमिलनाडु और पड़ोसी पुडुचेरी के कई क्षेत्रों में रविवार को भी बारिश हुई। मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले 24 घंटे में और बारिश हो सकती है क्योंकि निम्न दबाव का क्षेत्र बंगाल की खाड़ी से खिसककर कन्याकुमारी के समीप आ गया है। यहां एक इमारत ढह जाने से 27 साल के एक व्यक्ति की मौत के साथ ही पिछले महीने उत्तर-पूर्व मानसून के शुरुआत के बाद से वर्षा जनित घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर रविवार को 122 हो गई।

यहां क्षेत्रीय मौसम केंद्र के निदेशक एसआर रामनन ने कहा, ‘निम्न दबाव का क्षेत्र पश्चिम की दिशा में खिसककर कन्याकुमारी के पास पहुंच गया है और तटीय जिलों में अगले 24 घंटे में मूसलाधार बारिश होगी।’ उन्होंने बताया कि चेन्नई और उसके आसपास के इलाकों में बादल छाए रहेंगे और एक -दो जगह मध्यम स्तर की बारिश होगी। उन्होंने बताया कि रविवार सुबह साढ़े आठ बजे तक पुडुकोट्टई जिले के इल्लुम्बुर में नौ सेंटीमीटर और पुडुचेरी में सात सेंटीमीटर बारिश हुई। शहर के ओट्टेरी इलाके में आंशिक रूप से गिराया गया एक भवन ढह कर दूसरे भवन पर गिर गया और एक व्यक्ति की मौत हो गई।

और एक महिला घायल हो गई।
चेन्नई, कांचीपुरम और तिरुवल्लुर जिलों में स्कूल और महाविद्यालय मानसून के प्रकोप की वजह से दस दिन तक बंद रहने के बाद सोमवार को खुलेंगे। हालांकि पुडुचेरी सरकार ने भारी बारिश की वजह से सोमवार के लिए विद्यालयों में अवकाश की घोषणा कर दी है। तमिलनाडु के वर्षा प्रभावित क्षेत्रों के दो दिवसीय दौरे पर आईं भाजपा नेता और केंद्रीय वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘जिस तरह से औद्योगिक इकाइयों पर बुरा असर पड़ा हैं, उससे मैं बहुत दुखी हूं। निश्चित तौर पर मैं इसे भारत सरकार के सामने उठाऊंगी। प्रथम मैं इस विषय को उद्योग मंत्री के सामने रखूंगी।’

बाढ में डूब गए अंबात्तूर औद्योगिक एस्टेट की औद्योगिक इकाइयों को देखने के पश्चात उन्होंने कहा, ‘पहले मैं यह विषय उद्योग मंत्री के सामने उठाऊंगी। फिर मुझे मिले विवरण के साथ मैं मुख्यमंत्री (जयललिता) को बारिश के प्रभाव के बारे में विस्तार से पत्र लिखूंगी।’ उन्होंने कहा, ‘उसे बहाल करने के लिए बड़े कदम की जरूरत है। हम इस तरह कदम उठाएंगे कि जलप्लावित इकाइयां सामान्य रूप से कामकाज करें।’
इस बीच तमिलनाडु कांग्रेस अध्यक्ष ईवीकेएस इलानगोवन ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का व्यक्तिगत रूप से दौरा करने और नुकसान का मूल्यांकन करने पर पर्याप्त समय नहीं देने पर मुख्यमंत्री जयललिता की आलोचना की।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App