ताज़ा खबर
 

VIDEO: फोन पर बोले कर्नाटक सीएम- उन्‍हें गोलीबारी में बेरहमी से मार डालो

मामले पर विवाद बढ़ते देख एचडी कुमारस्वामी ने इस मसले पर सफाई दी है और कहा है कि वह भावनाओं में बहकर ये सब कह गए और उन्होंने ये आदेश के तहत नहीं कहा था।

hd kumaraswamyकर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी। (file pic)

कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी एक नए विवाद में फंसते नजर आ रहे हैं। एचडी कुमारस्वामी का समाचार एजेंसी एएनआई द्वारा एक वीडियो सामने आया हैं, जिसमें वह फोन पर किसी व्यक्ति से बात करते हुए कह रहे थे कि “वह (जनता दल (सेक्यूलर) के नेता एच.प्रकाश) एक अच्छा आदमी था, मुझे नहीं पता कि उन्होंने उसकी हत्या क्यों की। उन्हें बेरहमी से गोलीबारी में मार डालो, कोई दिक्कत नहीं है।” बता दें कि दो दिन पहले ही जनता दल (सेक्यूलर) के नेता एच.प्रकाश की कुछ लोगों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने इसी हत्या के संदर्भ में हमलावरों के खिलाफ ये बातें कहीं। कुछ खबरों में कथित तौर पर बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री ने फोन पर किसी वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के साथ फोन पर बातचीत के दौरान ये सब कहा।

हालांकि इसे लेकर विवाद हो गया है और सार्वजनिक तौर पर इस तरह के आदेश देने पर लोगों ने उनकी आलोचना शुरु कर दी है। मामले पर विवाद बढ़ता देख एचडी कुमारस्वामी ने इस मसले पर सफाई दी है और कहा है कि वह भावनाओं में बहकर ये सब कह गए और उन्होंने ये आदेश के तहत नहीं कहा था। जनता दल (सेक्यूलर) के प्रमुख और कर्नाटक के सीएम एचडी कुमारस्वामी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि “यह (जनता दल (सेक्यूलर) के नेता को मारने वाले हमलावरों को मारने की बात) मेरा आदेश नहीं था, मैं उस वक्त भावुक हो गया था। हत्यारे इससे पहले भी दो हत्याए कर चुके थे और जेल में बंद थे। 2 दिन पहले ही वह जमानत पर जेल से बाहर आए और उन्होंने एक और व्यक्ति की हत्या कर दी। इस तरह वो जमानत का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं।”

बता दें कि जनता दल (सेक्यूलर) नेता एच.प्रकाश मंड्या जिले के जिला पंचायत सदस्य थे, जिन्हें सोमवार की शाम एक हमले में मार दिया गया। यह हमला 4 लोगों द्वारा किया गया। हमले के पीछे का कारण निजी रंजिश बतायी जा रही है। हालांकि हत्यारे अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं और उनकी तलाश में छापेमारी की जा रही है। सोमवार को जब सीएम एचडी कुमारस्वामी एक कार्यक्रम के सिलसिले में विजयपुरा पहुंचे थे, तभी उन्हें फोन पर अपनी पार्टी के नेता की हत्या की बात पता चली। इसी दौरान उन्होंने हत्यारों को बेरहमी से मारने की बात कही।

Next Stories
1 अटलजी : RSS से जुड़ने पर नाराज हो गए थे घरवाले, मंत्री बने तो दोबारा लगवाई नेहरूजी की तस्वीर
2 महाराष्ट्र: यवतमाल में ट्रक से टकराई यात्री गाड़ी, हादसे में 9 की मौत, 6 गंभीर घायल
3 25 दिसंबर: अटलजी-मालवीय जी समेत आज ही के दिन हुआ था पांच खास लोगों का जन्म, जानें इनके नाम
ये पढ़ा क्या?
X