ताज़ा खबर
 

एचडी कुमारस्‍वामी ने किया कर्नाटक में स्थिर सरकार का वादा, बोले- कैबिनेट की रूपरेखा अभी तय नहीं

जनता दल (सेक्युलर) के नेता एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार (21 मई) को कहा कि उन्हें विश्वास है कि कर्नाटक में कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार स्थिर होगी। कुमारस्वामी बुधवार (23 मई) को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

Author Updated: May 21, 2018 9:22 PM
कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी के साथ कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी। (Photo: PTI)

जनता दल (सेक्युलर) के नेता एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार (21 मई) को कहा कि उन्हें विश्वास है कि कर्नाटक में कांग्रेस के साथ गठबंधन सरकार स्थिर होगी। कुमारस्वामी बुधवार (23 मई) को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। कुमारस्वामी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलने आए हैं। उन्होंने कहा कि गठबंधन भागीदारों को अभी कैबिनेट के गठन पर फैसला करना है। कुमारस्वामी ने पत्रकारों से कहा- “मुझे पूरा विश्वास है कि हम (कांग्रेस और जेडी-एस) राज्य में एक स्थिर सरकार देने में समर्थ होंगे। अभी आगे की प्रक्रिया के बारे में चर्चा नहीं हुई है।” अपनी कैबिनेट में दो उप मुख्यमंत्रियों की नियुक्ति की खबरों के सवाल पर कुमारस्वामी ने कहा कि कांग्रेस ने अबतक उन्हें मुख्यमंत्री का प्रस्ताव दिया है और कैबिनेट के गठन पर अंतिम बातचीत जल्द की जाएगी। उन्होंने कहा- “वे हमें नई सरकार बनाने के लिए समर्थन देने जा रहे हैं। सिर्फ उन्होंने यही प्रस्ताव मुझे दिया है। दूसरे मुद्दों पर अभी चर्चा नहीं हुई है। देखते हैं कि वे (कांग्रेस) क्या सुझाव मुझे देते हैं। उनके सुझाव के अनुसार हम निर्णय लेंगे।”

इससे पहले कुमारस्वामी ने दिन में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की। उन्होंने कहा- “मैं उनके (मायावती) प्रति अपना सम्मान प्रकट करने के लिए आया, क्योंकि हम चुनाव पूर्व गठबंधन सहयोगी हैं।” बता दें कि कर्नाटक चुनाव में राज्य की तीन बड़ी पार्टियों कांग्रेस, बीजेपी और जेडीएस में से किसी को भी स्पष्ट बहुमत नहीं मिला था। बीजेपी इस बार राज्य में सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी लेकिन बहुमत के आंकड़े से दूर रही।

हालांकि 104 सीटें जीतकर बीजेपी के बीएस येदियुरप्पा ने अल्पमत की सरकार बनाई, लेकिन विधानसभा में शक्ति परीक्षण के लिए जरूरी सदस्यों की संख्या न जुटा पाने के कारण कुछ ही घंटों में मुख्यमंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया। राज्यपाल वजुभाई वाला ने उन्हें 15 दिन की मोहलत दी थी, लेकिन कांग्रेस और जेडीएस के सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाने के बाद येदियुरप्पा को 28 घंटे के भीतर बहुमत साबित करने के लिए कहा गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories