ताज़ा खबर
 

एचसीयू विवाद: एससी-एसटी के 50 संकाय सदस्य ‘मानवाधिकारों के उल्लंघन’ के खिलाफ सामूहिक अवकाश पर

एचसीयू के रजिस्ट्रार एम सुधाकर ने बताया, ‘‘कक्षाएं चल रही हैं... वे सामान्य रूप से कार्य कर रही हैं।’’

Author हैदराबाद | March 29, 2016 7:21 PM
Hyderabad University, Hyderabad Dalit professor, Hyderabad University Rohith vemula, Hyderabad University latest news, Hyderabad University Pro Vice Chancellorहैदराबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (एचसीयू) (फाइल फोटो)

हैदराबाद केन्द्रीय विश्वविद्यालय परिसर में जारी ‘अभूतपूर्व स्थिति’ के खिलाफ जारी विरोध को लेकर एससी-एसटी के करीब 50 संकाय सदस्य मंगलवार (29 मार्च) को एक दिवसीय सामूहिक अवकाश पर चले गये। उधर, विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने कहा है कि कक्षाएं सामान्य रूप से चल रही हैं। एससी-एसटी फैक्लटी फोरम एंड कन्सर्न्ड टीचर्स की एक विज्ञप्ति में बताया है कि 22 मार्च (कुलपति अप्पा राव पोडिले के अपना कार्यभार संभालने के दिन) को छात्रों द्वारा प्रदर्शनों के बाद ‘मानवाधिकारों के उल्लंघन’ की श्रृंखलाबद्ध घटनाओं को लेकर परिसर में जारी ‘अभूतपूर्व स्थिति’ के खिलाफ एचसीयू के करीब 50 संकाय सदस्य सामूहिक एक दिवसीय अवकाश पर चले गये।

हालांकि, एचसीयू के रजिस्ट्रार एम सुधाकर ने बताया, ‘‘कक्षाएं चल रही हैं… वे सामान्य रूप से कार्य कर रही हैं।’’कुछ संकाय सदस्यों द्वारा एक दिवसीय सामूहिक अवकाश के आह्वान पर रजिस्ट्रार ने कहा, ‘‘हमें अधिकारिक रूप से उनसे कोई पत्र नहीं मिला है।’’
विज्ञप्ति में कहा गया है, ‘‘पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे छात्रों और पास खड़े लोगों पर अकारण और अनुचित बल प्रयोग किया। कई छात्रों और संकाय के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया और कई अन्य की गिरफ्तारी की धमकी दी गई । प्रदर्शनकारियों की गिरफ्तारी के बाद लगातार अनुचित तरीके से उनकी पिटाई की गयी।’’

इसमें कहा गया है, ‘‘इन सभी के खिलाफ और रोहित वेमुला तथा अन्य निलंबित छात्रों की न्याय नहीं मिलने के खिलाफ हम हैदरबाद विश्वविद्यालय के एससी-एसटी संकाय फोरम एंड कन्सर्न्ड फैक्लटी सदस्य एक दिन के सामूहिक अवकाश पर जा रहे हैं।’’

Next Stories
1 ओवैसी की पार्टी का जिलाध्यक्ष गिरफ्तार, मारपीट-अभ्रदता का आरोप
2 वृन्दावन में होगा विधवाओं का सबसे बड़ा घर, मेनका गांधी ने किया आश्रय सदन का शिलान्यास
3 ओवैसी बोले- हिंदुस्तान जिंदाबाद और जय हिंद, कार्यकर्ताओं को दिया जय भीम-जय मीम का नारा
यह पढ़ा क्या?
X