ताज़ा खबर
 

हाईवोल्टेज ड्रामे के बाद हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिले राहुल-प्रियंका, बंद कमरे में हुई मुलाकात

उत्तर प्रदेश के गृह सचिव अविनाश अवस्थी और यूपी के डीजीपी भी आज दोपहर हाथरस पीड़ित परिवार से मुलाकात करने पहुंचे थे।

hathras gangrape case rahul gandhi priyanka gandhiहाथरस जा रहे राहुल गांधी को पुलिस द्वारा डीएनडी पर रोक लिया गया था।

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शाम में हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी शाम में हाथरस के लिए निकले थे। इस दौरान डीएनडी पर भारी पुलिस बल ने कांग्रेस नेताओं को रोकने का प्रयास किया। हालांकि बाद में कांग्रेस नेताओं को जाने की इजाजत दे दी गई। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने बंद कमरे में पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान प्रियंका गांधी ने पीड़िता की मां को गले भी लगाकर सांत्वना दी।

उत्तर प्रदेश प्रशासन ने राहुल गांधी और चार अन्य कांग्रेसी नेताओं को ही हाथरस जाने की अनुमति दी है। बता दें कि उत्तर प्रदेश के गृह सचिव अवनीश अवस्थी और यूपी के डीजीपी आज दोपहर हाथरस पीड़ित परिवार से मुलाकात करने पहुंचे थे। इसके बाद उन्होंने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत पांच लोगों के पीड़ित परिवार से मिलने देने की बात कही थी।

इससे पहले राहुल गांधी ने सुबह ट्वीट कर फिर से हाथरस जाने की बात कही थी। अपने ट्वीट में राहुल गांधी ने लिखा था कि “दुनिया की कोई भी ताकत मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकती।” राहुल गांधी के हाथरस जाने की खबर मिलने के बाद नोएडा में डीएनडी पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई थी। यह तैनाती राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के काफिले को रोकने के लिए की गई थी। जैसे ही राहुल गांधी का काफिला डीएनडी पहुंचा, वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने काफिले को रोक लिया। इसके बाद मौके पर मौजूद भारी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी हुई।

नोएडा के जाइंट सीपी लव कुमार और डिप्टी कमिश्नर रणवीर सिंह ने राहुल गांधी की गाड़ी के पास जाकर उन्हें समझाने का प्रयास किया। इस दौरान हंगामा कर रहे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर हल्का बल प्रयोग भी किया गया। वहीं उत्तर प्रदेश कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू ने बताया है कि उन्हें घर में नजरबंद रखा गया है और प्रशासन उन्हें हाथरस जाने से रोक रहा है।

बता दें कि गुरुवार को भी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत कई कांग्रेसी नेताओं ने हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मुलाकात करने जाने की कोशिश की थी लेकिन ग्रेटर नोएडा में पुलिस द्वारा कांग्रेस नेताओं को रोक दिया गया था। इस दौरान काफी हंगामा हुआ था और काफी प्रयास के बाद पुलिस ने राहुल गांधी, प्रियंका गांधी समेत कई कांग्रेसी नेताओं को हिरासत में ले लिया था। हालांकि कुछ घंटे बाद नेताओं को छोड़ दिया गया था।

वहीं हाथरस की घटना के विरोध में वाराणसी में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के काफिले को रोका गया। दरअसल स्मृति ईरानी ने दिल्ली गैंगरेप की घटना के वक्त चूड़ियां लेकर तत्कालीन सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया था। उसी की याद दिलाते हुए समाजवादी और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने अब स्मृति ईरानी की चुप्पी पर सवाल खड़े किए और उनके काफिले का घेराव किया। किसी तरह पुलिस ने केन्द्रीय मंत्री के काफिले को वहां से सुरक्षित निकाला।

Next Stories
1 चीन, PAK से तनातनी के बीच भारत में परमाणु क्षमता वाली बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण, 800 किमी दूर तक ‘शौर्य’ करेगी दुश्मनों को ढेर
2 Bihar Elections 2020: आया ‘मोदी से बैर नहीं, नीतीश तेरी खैर नहीं’ वाला पोस्टर, फोटो में CM को बताया ‘कुर्सी फर्स्ट’, JDU के तेवर तल्ख
3 Bihar Elections 2020: सरोज यादव को टिकट पर राबड़ी के आवास पर RJD कार्यकर्ताओं का बवाल, तेज प्रताप को देख लगाए नारे, 4 घंटे से अधिक चला ‘ड्रामा’
ये पढ़ा क्या?
X