ताज़ा खबर
 

हाथरस कांडः पीड़िता के घर के पास सवर्णों की बैठक, गैंगरेप के आरोपी को न्याय दिलाने की उठी मांग, हुई नारेबाजी

पीड़िता के घर के पास सर्वणों की एक बैठक आयोजित की गई। यह बैठक भारतीय जनता पार्टी के नेता राजवीर सिंह पहलवान के घर की गई थी। इस बैठक में गिरफ्तार आरोपियों के समर्थन में नारे लगाए गए और उन्हें न्याय दिलाने की मांग की गई।

hathras, rape caseहाथरस में दलित युवती के गैंगरेप और हत्या को लेकर पूरे देश में रोष है। (Video screenshot)

उत्तर प्रदेश के हाथरस ज़िले में 14 सितंबर को चार युवकों ने 19 साल की युवती के साथ बर्बरतापूर्वक मारपीट करने के बाद रेप किया था। इस वारदात को लेकर सियासत उफान पर है, तमाम नेता पीड़‍िता के परिवार से मिलने आ रहे हैं। इसी बीच रविवार को पीड़िता के घर के पास सर्वणों की एक बैठक आयोजित की गई। इस बैठक में गिरफ्तार आरोपियों के समर्थन में नारे लगाए गए और उन्हें न्याय दिलाने की मांग की गई।

हाथरस में दलित युवती के गैंगरेप और हत्या को लेकर पूरे देश में रोष है। इस मामले में जो भी दोषी हों, उन्हें सख्त से सख्त सजा दिए जाने की मांग उठ रही है। एनडीटीवी की एक रिपोर्ट के मुताबिक अब इस मामले में आरोपियों को न्याय दिलाने की आवाज़ भी उठने लगी है। पीड़िता के घर के पास सर्वणों ने एक बैठक की थी। इस बैठक में एक आरोपी का परिवार भी शामिल था। यह बैठक भारतीय जनता पार्टी के नेता राजवीर सिंह पहलवान के घर की गई थी।

इस पर बीजेपी नेता का कहना है कि यह एक स्वागत समारोह था। सीबीआई जांच का स्वागत करने के लिए लोग यहां खुद आए थे किसी को भी बुलाया नहीं गया था। इस समारोह में एक आरोपी की मां भी आई थी। रिपोर्ट के मुताबिक बैठक के आयोजकों में से एक ने कहा, “हमने बैठक के बारे में पुलिस को सूचित कर दिया है। पीड़िता के परिवार के खिलाफ भी एफ़आईआर दर्ज़ की जानी चाहिए।” आयोजकों ने आगे कहा “आरोपियों को निशाना बनाया गया है, उन्हें इंसाफ मिलना चाहिए।”

इससे पहले शुक्रवार को भी एक बैठक हुए थी। इस बैठक में भी सवर्ण समाज के लोगों ने सीबीआई जांच की मांग की थी। बता दें बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने योगी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने पूछा है कि सीएम डीएम के मामले पर चुप क्यों हैं?

मायावती ने ट्वीट कर लिखा ” ट्वीट किया है, “हाथरस गैंगरेप काण्ड के पीड़ित परिवार ने जिले के डीएम पर धमकाने आदि के कई गंभीर आरोप लगाए हैं, फिर भी यूपी सरकार की रहस्मय चुप्पी दुःखद व अति-चिन्ताजनक… हालाँकि सरकार सीबीआई जाँच हेतु राजी हुई है, किन्तु उस डीएम के वहाँ रहते इस मामले की निष्पक्ष जाँच कैसे हो सकती है? लोग आशंकित…”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Congress नेत्री ने डिबेट में छेड़ा दलित शब्द का जिक्र, भड़क कर बोले BJP नेता- SC दलित नहीं है, बार-बार उसे ये न कहें…
2 Bihar Elections 2020: 25% MLA हैं हथियारधारी, 45 पर मुकदमे भी; 4 की बीवियां भी रखती हैं असलहे, जानें किस दल में कितने ऐसे विधायक
3 केरल में हादसा: ट्रेनिंग के दौरान ग्लाइडर क्रैश, दो नेवी अफसरों की गई जान
यह पढ़ा क्या?
X