ताज़ा खबर
 

डेरा मुख्यालय में बिना नंबर की लग्जरी कार, पुराने करंसी नोट, दवा, ओबी वैन बरामद, जानिए-और क्या मिला?

800 एकड़ में फैले डेरा को तलाशी के उद्देश्य से दस जोन में बांटा गया है जिसमें हर जोन एक वरिष्ठ अधिकारी के नियंत्रण में है।

Author September 8, 2017 9:40 PM
डेरा के आसपास अन्य नाका पर भी भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं।

सिरसा के डेरा सच्चा सौदा मुख्यालय की आज ली जा रही तलाशी के दौरान बिना पंजीकरण प्लेट वाले एक एक लग्जरी कार और पुराने करंसी नोट बरामद किए गए। डेरा प्रमुख बलात्कार के मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद से जेल में हैं। यह जानकारी एक अधिकारी ने दी। सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के मुख्यालय की गहन तलाशी चल रही है जिसमें सुरक्षा बल और जिले के अधिकारी हिस्सा ले रहे हैं। कुछ कमरे भी सील किए गए हैं और हार्ड डिस्क ड्राइव तथा बिना लेवल वाली दवाएं बरामद हुई हैं। यह जानकारी हरियाणा जनसंपर्क विभाग के उप निदेशक सतीश मेहरा ने दी जिन्हें प्रशासन ने मीडिया से बात करने के लिए अधिकृत किया है।

उन्होंने कहा, ‘‘कुछ कमरों को सील किया गया है, कम्प्यूटर और हार्ड डिस्क ड्राइव, गैर पंजीकृत लेक्सस कार, एक ओबी वैन, सात हजार रुपये के बंद हो चुके नोट, 12 हजार रुपये नकद और बिना लेबल वाले कुछ फार्मा दवाएं बरामद सामग्रियों में शामिल हैं।’’ मेहरा ने कहा कि फोरेंसिक टीम करनाल और सोनीपत से सिरसा पहुंच चुकी है जबकि फोरेंसिक विशेषज्ञों को भी उत्तराखंड के रूड़की से बुलाया गया है। तलाशी के दौरान प्लास्टिक के ‘‘सिक्के’’ पाए जाने की खबर की पुष्टि नहीं हुई है।

सुबह आठ बजे शुरू हुई प्रक्रिया की वीडियोग्राफी की जा रही है और जिला तथा सत्र न्यायाधीश ए. के. एस. पवार इसकी निगरानी कर रहे हैं जिन्हें पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने प्रक्रिया की निगरानी के लिए मंगलवार को कोर्ट कमिश्नर के रूप में नियुक्त किया था। डेरा मुख्यालय की ओर जाने वाली सड़कों पर कर्फ्यू अब भी जारी है। किसी भी व्यक्ति को बिना अनुमति के डेरा परिसर में जाने की अनुमति नहीं है।

करीब 800 एकड़ में फैले डेरा को तलाशी के उद्देश्य से दस जोन में बांटा गया है जिसमें हर जोन एक वरिष्ठ अधिकारी के नियंत्रण में है। सिरसा जिले में दस सितम्बर तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद हैं ताकि अभियान के बारे में कोई अफवाह नहीं फैला सके और कानून-व्यवस्था में गड़बड़ी को रोका जा सके। पत्रकारों को भी शाह सतनाम सिंह चौक पर रोक दिया गया जो मुख्यालय से करीब सात किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। चौक पर भी भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात हैं। डेरा के आसपास अन्य नाका पर भी भारी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि आज सुबह सुरक्षा बलों का बड़ा काफिला डेरा मुख्यालय के भीतर गया जिसमें पुलिस बसें, अर्द्धसैनिक बलों के वाहन, त्वरित प्रतिक्रिया दलों के वाहन, बम निष्क्रिय करने वाले दस्ते, गड़बड़ी रोकने वाले दलों के वाहन, पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के जवानों को लेकर जाने वाले कई वाहन शामिल थे। इनमें जिला प्रशासन के अधिकारियों के दल भी शामिल थे। इस पूरे अभियान के दौरान दमकल गाड़ियों के अलावा मिट्टी खोदने वाले भारी वाहनों और ट्रैक्टरों का भी प्रयोग किया जा रहा है।

हरियाणा पुलिस के महानिदेशक बी. एस. संधू ने कल चंडीगढ़ में कहा था, ‘‘हमने रणनीति बनायी है और हमें उम्मीद है कि परिसर को खतरा मुक्त बनाने के लिए चलाया जा रहा तलाशी अभियान बिना किसी रूकावट के पूरा होगा। डेरा प्रबंधन ने भी जांच के दौरान स्थानीय प्रशासन और पुलिस के साथ सहयोग करने की इच्छा जतायी है।’’ डेरा प्रबंधन ने इससे पहले आज कहा कि वह इस पूरे अभियान में सहयोग करेगा। डेरा की अध्यक्ष विपश्यना इंसां का कहना है, ‘‘तलाशी अभियान आज शुरू हुआ है। हमने हमेशा कानून का पालन किया है। हम सरकार के इस अभियान में पूर्ण सहयोग करेंगे और सभी से शांति तथा स्थिरता बनाए रखने की अपील करते हैं।’’

कोर्ट कमिश्नर पवार कल सिरसा पहुंचे और प्रशासन तथा पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक कर आज चलाए जाने वाले अभियान के प्रक्रिया की जानकारी ली। इस प्रक्रिया का हिस्सा उप मजिस्ट्रेट, कार्यकारी मजिस्ट्रेट और राजस्व अधिकारी भी हैं। डेरा के आसपास 16 नाके बनाए गये हैं। अर्द्धसैनिक बलों की कुल 41 कंपनियां सिरसा में तैनात की गयी हैं। बम निष्क्रिय करने वाले दस्तों के पुलिसकर्मी, विशेष हथियार एवं टैक्टिक्स टीम के 40 कमांडो और डॉग स्क्वायड के अलावा सीआरपीएफ, सशस्त्र सीमा बल, त्वरित कार्रवाई बल और सीमा सुरक्षा बल को अभियान में शामिल किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App