ताज़ा खबर
 

66 साल के बैंकर दे बैठे फेसबुक फ्रेंड को दिल, 35 लाख की ठगी होने पर रह गए सन्न

रिटायर्ड बैंक गुरुग्राम के डीएलएफ-1 इलाके में रहते थे। उन्होंने अपनी फेसबुक चैट फ्रेंड को 13 लाख रुपये अपनी सेविंग्स से दिए थे। उन्होंने निजी देनदारों से कर्ज लेकर भी 22 लाख रुपये की रकम उसे दी थी।

प्रतीकात्मक फोटो

गुरुग्राम के एक 66 साल के रिटायर्ड बैंकर को फेसबुक पर प्यार में पड़ना बेहद महंगा पड़ा है। टाइम्स आॅफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, शख्स ने हाल ही में खुलासा किया है कि उसे उसकी फेसबुक चैट फ्रेंड ने धोखा दे दिया है। इस महिला मित्र ने दावा किया था कि वह उससे मिलने के लिए लंदन से इंडिया आ रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, रिटायर्ड बैंक गुरुग्राम के डीएलएफ-1 इलाके में रहते थे। उन्होंने अपनी फेसबुक चैट फ्रेंड को 13 लाख रुपये अपनी सेविंग्स से दिए थे। उन्होंने निजी देनदारों से कर्ज लेकर भी 22 लाख रुपये की रकम उसे दी थी। महिला मित्र ने कथित तौर पर दावा किया था कि उसे आप्रवासन अधिकारियों ने मुंबई एयरपोर्ट पर दस्तावेज न होने पर रोक लिया है।

रिपोर्ट में साफ तौर पर बताया गया है कि ये वर्चुअल लव स्टोरी आखिरकार शुरू कैसे हुई। ये पूरी कहानी 19 मई को शुरू हुई थी। जब रिटायर्ड बैंकर, जो अभी तक कुंवारे भी थे, उन्होंने फेसबुक पर जेनी एंडरसन नाम की महिला की फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली। इसके परिणामों से अंजान होने के कारण उन्होंने उसकी रिक्वेस्ट स्वीकार कर ली। इसके बाद दोनों ने अक्सर बातचीत करना शुरू कर दिया। इसी बीच महिला मित्र ने उनसे उनका व्हाट्सएप नंबर मांग लिया। इसके बाद दोनों के बीच में नियमित तौर पर लगातार बातें होने लगी।

पीड़ित ने रिपोर्ट के मुताबिक बताया कि उसकी वर्चुअल गर्लफ्रेंड जेनी उसके लिए आ रही थी। उसने बताया कि जेनी ने सिंगल होने का दावा किया था। उसने कहा कि वह अपनी मां के साथ लंदन में रहती है, जहां उसका अपना खुद का जूलरी शोरूम है। जेनी ने बताया कि वह अक्सर अपने कारोबार के सिलसिले में कई देशों में घूमती रहती है। वह अक्सर सोना खरीदने के लिए भारत भी आती है।

ये बात भी गौर करने की है कि 26 मई को महिला ने उसे बताया कि वह 26 मई को अपनी दुकान की 11वीं सालगिरह मनाना चाहती है। वह उसे बुलवाना भी चाहती थी। उसने रिटायर्ड बैंकर के घर का पता भी मांगा था। उसने भारत में उसे कुछ गिफ्ट भेजने की चाहत भी जताई थी। उसने अपनी गर्लफ्रेंड को बता दिया कि ये संभव नहीं है कि वह उससे मिलने के लिए जा सके। कुछ ही दिनों के बाद जेनी ने उसे व्हाटसएप पर बताया कि वह भारत उससे मिलने के लिए आ रही है। वह 1 जून को फ्लाइट में बैठेगी। उसने रिटायर्ड बैंकर को बताया कि वह पहले मुंबई लैंड करेगी और उसके बाद अगली फ्लाइट से दिल्ली आ जाएगी। वह बैंकर के घर में एक हफ्ते रुकने के लिए आ रही थी। इसके बाद वह दुबई से निकलने का प्लान बना रही थी।

उसी फ्लाइट के दिन, पूजा नाम की महिला का फोन रिटायर्ड बैंकर के पास आया। पूजा ने दावा किया कि वह मुंबई हवाई अड्डे के आप्रवासन विभाग से बोल रही है। पूजा ने बैंकर को बताया कि जेनी एंडरसन यूके से भारत आ गईं हैं। लेकिन उन्हें दिल्ली की कनेक्टिंग फ्लाइट लेने से रोक दिया गया है, क्योंकि उनके पास दो आवश्यक दस्तावेज नहीं हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, उन्हें बताया कि जेनी के पास 68 लाख ब्रिटिश पाउंड हैं, जिनका कोई वैध दस्तावेज उसके पास नहीं है। उसके पास स्वास्थ्य का प्रमाणपत्र भी नहीं है। हालांकि ये असल मामला नहीं था। इसके बाद पूजा ने फोन जेनी को थमा दिया। जेनी ने फोन पर ही रोना शुरू कर दिया।

इसके बाद उसने अपने नए प्रेमी से फोन पर ही गुजारिश की कि वह उसके जुर्माने के पैसे भर दे, क्योंकि उसके पास दूसरा कोई भी रास्ता नहीं बचा है। जेनी ने उससे कहा कि वह लोन लेकर भी उसे पैसे दे दे, जेनी ने वादा किया कि वह उसे पैसे लौटा देगी। अगले कुछ दिनों तक पूजा और एक आदमी, जो अपना नाम कुमार सेन बताता था। ये दोनों बैंकर को फोन करके धमकाते रहे और खुद को दिल्ली एयरपोर्ट का कर्मचारी बताते रहे। दोनों ने उसे ब्लैकमेल किया और केस दर्ज करवाने की धमकी देते रहे।

रिटायर्ड बैंकर ने घबराकर 35 लाख रुपये विभिन्न बैंक खातों में जमा करवाए। 1 जून से लेकर 15 जून के बीच कुल 20 बार में उसने ये रकम उनके खातों में पहुंचाई। हालांकि वह सन्न तब रह गया जब जेनी एक भी बार उससे मिलने के लिए नहीं आई। रिटायर्ड बैंकर ने लगातार कई माध्यमों से जेनी से संपर्क साधने की कोशिश की लेकिन उसे एक भी बार सफलता नहीं मिली। जेनी ने फिर कभी जवाब नहीं दिया। इसके बाद रिटायर्ड बैंकर ने डीएलएफ-1 पुलिस स्टेशन में हाल ही में मामला दर्ज करवाया है। पुलिस अब इस मामले की जांच में जुटी हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App