ताज़ा खबर
 

जानिए लॉकअप में कैसे कटी हनीप्रीत की रात, 4 घंटे तक पूछताछ, डिनर में मिली दाल-रोटी

आईजी ममता सिंह और एएस चावला की मौजूदगी में हनीप्रीत से पूछताछ की गई।
Author पंचकुला | October 4, 2017 13:41 pm
बलात्कारी बाबा राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत। (Photo Source: Indian Express Archive)

दो साध्वियों के साथ बलात्कार करने के मामले में जेल में सजा काट रहे राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत को हरियाणा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 38 दिनों बाद मिली कामयाबी के बाद हरियाणा पुलिस ने मंगलवार को हनीप्रीत को पंचकुला पुलिस को सौंपा। इंडिया टुडे को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू के बाद हनीप्रीत की गिरफ्तारी हुई है। इंटरव्यू के दौरान हनीप्रीत खुद को बेगुनाह साबित करने की कोशिश करती रही। उसने इंटरव्यू में कहा कि जैसा मीडिया ने उसे सबके सामने दिखाया है वह असल जिंदगी में वैसी बिलकुल भी नहीं है। राम रहीम को बलात्कार केस में दोषी दिए जाने के बाद पंचकुला में घटी हिंसा में हनीप्रीत मुख्य आरोपी थी।

पंचकुला के पुलिस कमीश्नर एएस चावला ने पुष्टि की कि 4 अक्टूबर को हनीप्रीत को पंचकुला कोर्ट में पेश किया जा रहा है। पंचकुला पुलिस ने मंगलवार को हनीप्रीत से करीब 4 घंटे तक पूछताछ की। आईजी ममता सिंह और एएस चावला की मौजूदगी में हनीप्रीत से पूछताछ की गई। हनीप्रीत का बयान कैमरे में रिकोर्ड किया गया। हनीप्रीत से पूछा गया कि रोहतक सुनरिया जेल से जाने के बाद वह पुलिस के सामने क्यों नहीं आई? उसने पंचकुला हिंसा के अन्य आरोपी पवन और आदित्य से आखिरी बार कब बात की थी और अब वे कहां हैं? पंचकुला में हिंसा भड़काने के लिए कितना पैसा भेजा गया था? इस मामले में मुख्य भूमिका किसकी है? इस प्रकार के कई सवाल पुलिस ने हनीप्रीत से पूछे गए हैं।

पुलिस द्वारा पूछताछ किए जाने के बाद हनीप्रीत को खाने में पीली दाल और दो रोटियां दी गई। इसके बाद देर रात करीब डेढ बजे के करीब हनीप्रीत ने सीने में दर्द की शिकायत की, जिसके बाद उसे पंचकुला सिविल अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया। अस्पताल में हनीप्रीत का ईसीजी किया गया जिसकी रिपोर्ट नॉर्मल आई थी। हनीप्रीत ने डॉक्टरों को बताया कि वह अक्सर माइग्रेन की दवाइयां लेती है। बता दें कि हनीप्रीत इंसां को पंजाब में जिरकपुर-पटियाला रोड से गिरफ्तार किया गया था।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.