ताज़ा खबर
 

वर्णिका कुंडू मामला: छेड़छाड़ केस में हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष के बेटे विकास बराला को जमानत

सोमवार को विकास बराला के वकील ने चंडीगढ़ जिला अदालत में 5 घंटे तक वर्णिका कुंडू के साथ सवाल-जवाब किये थे।

आरोपी विकास बराला (बाएं) और वर्णिका कुंडू।

पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने चंडीगढ़ में एक युवती का पीछा करने के मामले में हरियाणा भाजपा प्रमुख सुभाष बराला के बेटे विकास बराला को जमानत दे दी है। अदालत का यह फैसला केस की पीड़ित वर्णिका कुंडू के साथ क्रॉस एग्जामिनेशन के बाद आया है। सोमवार (8 जनवरी) को विकास बराला के वकील ने चंडीगढ़ जिला अदालत में 5 घंटे तक वर्णिका कुंडू के साथ सवाल-जवाब किये थे। बचाव पक्ष के वकील ने वर्णिका के कॉल डिटेल में तकनीकी खामियों के आधार पर उसके दावे को गलत साबित करने की कोशिश की थी। लेकिन वर्णिका अपने दावे पर टिकी रही। इस दौरान वर्णिका ने उस खौफनाक रात की पूरी कहानी अदालत के सामने दोहराई। इसके अलावा सोमवार को वर्णिका ने बचाव पक्ष की उन सारी दलीलों को खारिज कर दिया कि उनके पिता वी एस कुंडू, जो कि हरियाणा कैडर के एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी हैं, ने पुलिस पर लगातार दवाब बनाया और सबूतों से छेड़छाड़ कर विकास और उसके दोस्त आशीष को फंसाने को कहा।

HOT DEALS
  • Gionee X1 16GB Gold
    ₹ 8990 MRP ₹ 10349 -13%
    ₹1349 Cashback
  • Apple iPhone 8 64 GB Silver
    ₹ 60399 MRP ₹ 64000 -6%
    ₹7000 Cashback

वर्णिका ने पूछताछ के दौरान बचाव पक्ष के उस दलील को भी बकवास करार दिया, जिसमें कहा गया था कि वर्णिका के पिता वीएस कुंडू या वकील राजदीप टकोरिया हरियाणा के पूर्व मुख्यमत्री भूपिन्दर सिंह हुड्डा के साथ लगातार संपर्क में थे। बचाव पक्ष ने यह भी आरोप लगाया था कि वर्णिका को उसके पिता और वकील ने मजिस्ट्रेट के सामने सीपीसी की धारा 164 के तहत बयान देने के वक्त गलत तथ्य बोलने को कहा था, लेकिन वर्णिका ने इन सारे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया।

बता दें कि वर्णिका कुंडू ने आरोप लगाया था कि पिछले साल चार अगस्त को विकास और आशीष वर्णिका की कार का पीछा कर उसे रोकने की कोशिश की थी। वर्णिका का कहना था कि 3 अगस्त को उसके कार की गाड़ी की चाबी टूट गई थी। इसके बाद वह सेक्टर-8 में गाड़ी छोड़कर चलीं गई। जब अगली रात को वह 11.15 pm पर गाड़ी लेने सेक्टर 8 पहुंची तो उनके साथ ये घटना हुई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App