ताज़ा खबर
 

हरियाणा के मंत्री का बयान- खिलजी का महिमामंडन तेजाब हमलावरों की तारीफ जैसा

अलाउद्दीन खिलजी के चरित्र का महिमामंडन करना लड़कियों पर तेजाब फेंकने वालों की तारीफ करने जैसा ही है।

Author चंडीगढ़ | November 13, 2017 9:15 AM
पद्मावती से रणवीर सिंह का लुक आया सामने।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और ‘पद्मावती’ के निर्देशक संजय लीला भंसाली को हरियाणा के मंत्री विपुल गोयल ने एक पत्र लिख कर फिल्म में बदलाव करने की मांग की है। गोयल ने पत्र में लिखा है कि अलाउद्दीन खिलजी के चरित्र का महिमामंडन करना लड़कियों पर तेजाब फेंकने वालों की तारीफ करने जैसा ही है। सूचना और प्रसारण मंत्री को लिखे पत्र में गोयल ने स्मृति का ध्यान फिल्म को लेकर उठ रहे विवाद की ओर आकर्षित किया है। यह फिल्म शीघ्र ही रिलीज होने वाली है। उन्होंने कहा कि राजपूत समुदाय के अलावा अन्य वर्गों के लोगों में भी फिल्म को लेकर चिंताएं हैं। चिंताएं इस बात को लेकर हैं कि क्या फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों को तोड़मरोड़ कर पेश किया गया है।

पत्र में गोयल ने लिखा है, ‘हमारी समृद्ध संस्कृति के बजाय अलाउद्दीन खिलजी के नकारात्मक किरदार का महिमामंडन किए जाने को लेकर अन्य राज्यों की तरह ही हरियाणा के लोगों में भी नाराजगी है।’ उन्होंने कहा है, ‘इसलिए आपसे अनुरोध है कि जनभावनाओं और ऐतिहासिक तथ्यों को ध्यान में रखते हुए फिल्म को मंजूरी दी जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ न हो।’ भंसाली को लिखे एक अन्य पत्र में गोयल ने दावा किया कि उन्होंने फिल्म का ट्रेलर देखा है। उन्होंने लिखा है कि फिल्म में खिलजी के नकारात्मक किरदार का महिमामंडन किया गया है। उन्होंने लिखा है, ‘अलाउद्दीन खिलजी के चरित्र का महिमामंडन करना लड़कियों पर तेजाब फेंकने वालों की तारीफ करने जैसा ही है। ऐसा करके, आप बॉक्स आॅफिस पर भले ही सफल हो जाएं लेकिन इन परिस्थितियों में फिल्म हमारे देश के इतिहास के साथ न्याय नहीं कर पाएगी।’ गोयल ने भंसाली को लिखे पत्र में कहा है, ‘मैं आपसे जानना चाहता हूं कि लोगों के मनोरंजन के लिए खिलजी के किरदार का महिमामंडन करना क्या सही है?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App