ताज़ा खबर
 

5 हजार का पपीता और 2,000 रुपए का बैंगन: राम रहीम के डेरे में सोने के भाव बिकती थीं सब्जियां

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दो महिलाओं से बलात्कार करने का दोषी साबित होने और उसे बीस साल की सजा दिए जाने के बाद बाबा के खिलाफ रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं।
दो महिलाओं से बलात्कार का दोष साबित होने के बाद राम रहीम को बीस साल की सजा दी गई है। (फाइल फोटो)

डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दो महिलाओं से बलात्कार करने का दोषी साबित होने और उसे बीस साल की सजा दिए जाने के बाद बाबा के खिलाफ रोज नए-नए खुलासे हो रहे हैं। बलात्कारी राम रहीम के सिरसा मुख्यालय से जुड़ी रोज नई-नई बातें भी सामने आ रही हैं। खबर के अनुसार राम रहीम अपने डेरे में सब्जियां भी उगाता था जिन्हें बहुत ऊंची कीमत पर बेचा जाता था। डेली पोस्ट की खबर के अनुसार सिरसा डेरे में एक मिर्च के लिए एक हजार रुपए चुकाने होते थे। यहां अन्य सब्जियों की कीमत भी बहुत ज्यादा थी। दो टमाटर के लिए एक हजार रुपए और पपीते के लिए करीब पांच हजार रुपए का भुगतान करना होता था जबकि बैंगन की कीमत एक से दो हजार के बीच होती थी। बैंगन की कीमत उसके आकार के हिसाब से भी तय की जाती थी। अब सवाल ये है कि इन सब्जियों को इतने महंगी कीमत पर खरीदता कौन था? आपको बताते कि डेरे में राम रहीम के हजारों फॉलोअर्स आते थे जो इतनी महंगी सब्जियों को बाबा का प्रसाद समझकर खरीद लेते थे। खबर के अनसुार प्रसाद से जमा हुए रुपए को डेरा मैनेजमेंट को भेज दिया जाता था। कभी डेरा में पदाधिकारी रहे एक शख्स ने बताया कि राम रहीम द्वारा बनाए गुड़ को करीब 1.15 लाख रुपए में एक श्रद्धालु ने खरीदा था। जिस कुर्सी पर राम रहीम बैठता था उसे ने श्रद्धालु 80 हजार से दो लाख रुपए तक में खरीदते थे।

बता दें कि बलात्कारी बाबा राम रहीम के सिरसा में स्थित डेरे को खंगालने के लिए हरियाणा सरकार ने तैयारी शुरू कर दी है। रिपोर्ट्स के मुताबिक डेरे में सर्च ऑपरेशन के लिए 5000 जवान तैनात किए गए हैं, वहीं ताले तोड़ने के लिए 22 लोहारों की टीम भी तैयार रखी गई है। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायलय ने बीते मंगलवार (पांच सितंबर) को राज्य सरकार की उस याचिका को मंजूर कर लिया, जिसमें बलात्कारी बाबा राम रहीम के सिरसा स्थित डेरे में सर्च ऑपरेशन की मंजूरी मांगी गई थी। राज्य सरकार ने कोर्ट में याचिका लगाई थी कि डेरे की संपत्तियों की जांच न्यायिक अधिकारी की निगरानी में की जाए, जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया। डेरे में सर्च ऑपरेशन पानीपत के रिटायर्ड जिला एवं सेशन जज अनिल कुमार पवार के नेतृत्व में होगा, जिन्हें होईकोर्ट ने नियुक्त किया है।

बताया जा रहा है कि प्रशासन डेरे में तीन बिंदुओं पर अपना सर्च ऑपरेशन चलाएगा। पहला डेरे में अवैध हथियार और विस्फोटक सामग्री की तलाश की जाएगी। वहीं दूसरा बिंदू अवैध संपत्ति, काला धन या अन्य चीज और तीसरा बिंदू है पूर्व साधकों डेरे में कई लाशें दफन होने का दावा। बताया जा रहा है कि अगर प्रशासन को शक हुआ तो वह डेरे में खुदाई भी करवा सकता है। सर्च ऑपरेशन के लिए नियुक्त किए गए रिटायर्ड जज अनिल पवार को 1.45 लाख रुपए वेतन दिया जाएगा। रिटायर्ड जज पवार अपनी रिपोर्ट हाईकोर्ट को एक बंद लिफाफे में सौपेंगे और साथ में सर्च ऑपरेशन की वीडियोग्राफी कराने का भी आदेश दिया गया है। हरियाणा के डीजीपी बलजीत सिंह संधू का कहना है कि कोर्ट के आदेश की कॉपी मिलने के बाद हम वह रिटायर्ड जज को सौंप देंगे और जैसे ही वो अनुमति देंगे हम ऑपरेशन शुरू कर देंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App