man forced to strip in bus stand to prove religious identity in haryana - हरियाणा में FIR: हिंदू है या मुसलमान, देखने के लिए धार्मिक संगठन ने सड़क पर ही उतरवा दी पैंट - Jansatta
ताज़ा खबर
 

हरियाणा में FIR: हिंदू है या मुसलमान, देखने के लिए धार्मिक संगठन ने सड़क पर ही उतरवा दी पैंट

संगठन को शक था की बीते दस महीने से यहां रह रहे कपल ने अंतरजातीय विवाह किया है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतिकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

हरियाणा में इंसानियत को शर्मसार करने वाली एक घटना सामने आई है। यहां एक कथित धार्मिक संगठन ने एक शख्स का धर्म जानने के लिए जबरन उसके कपड़े उतरवा दिए। घटना बीते महीने रेवाड़ी की बताई जाती है। संगठन को शक था की बीते दस महीने से यहां रह रहे कपल ने अंतरजातीय विवाह किया है। घटना के बाद कपल ने इस दुर्व्यवहार के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराई है। लेकिन शिकायत दर्ज कराए जाने के बाद से कोई एक्शन नहीं लिया। घटना बीते रविवार (5 नंवबर) को तब प्रकाश में आई जब कपल अपने वकील के साथ पुलिस स्टेशन पहुंचा। वहीं पीड़ित शख्स की पत्नी ने आरोप लगाया है कि पुलिस आरोपियों से समझौता कराने के लिए दवाब डाल रही है। जबकि मूल शिकायत पर ध्यान नहीं दिया गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की जानकारी के अनुसार घटना 10 अक्टूबर की बताई जाती है। तब कपल रेवाड़ी के लिए नूह जाने के लिए बस से उतरा था। जहां एक समूह द्वारा दोनों को बुरी तरह प्रताड़ित किया गया। संगठन के लोगों ने कपल से शारीरिक छेड़छाड़ की और जबरन बस स्टैंड पर खड़ा रखा। संगठन ने कहा कि कपल तब तक नहीं जा सकता जबतक वो अपनी धार्मिक पहचान का सबूत नहीं देगा। खबर के अनुसार इस दौरान दिन के उजाले में शख्स के जबरन कपड़े उतरवाए गए। पीड़ित ने बताया कि उन्हें शक था कि हमने घर से भागकर अंतरजातीय विवाह किया है।

कपल एक ही धर्म से संबंध रखता है, साबित होने के बाद उन्हें मुक्त किया गया। घटना के बाद कपल ने उसी दिन आरोपियों के खिलाफ पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत में कहा गया कि कथित धार्मिक संगठन के लोगों ने उनके साथ दुर्व्यवहार किया और उनका शारीरिक उत्पीड़न किया। सूत्रों का कहना है कि मामले की जानकारी जब हरियाणा सीएम शिकायत सेल को मिली तो पुलिस ने पीड़ितों को बुलाया। महिला ने कहा कि तब उनके पति अस्वस्थ थे और पुलिस के साथ बातचीत के लिए नहीं जा सकते थे। हालांकि महिला का कहना है कि मामले प्रकाश में आने के बाद उनपर समझौता करने का दवाब बनाया जा रहा है।

वहीं रेवाड़ी की एसपी संगीता कालिया ने कहा, ‘पीड़ित कपल मामले में संज्ञान लिया गया है और उन्हें जांच का पूरा भरोसा दिया है। पूरे मामले की जांज डीएसपी स्तर के अधिकारी द्वारा की जा रही है।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App