पलवल में पूरे परिवार ने कर ली खुदकुशी, बच्चों को जहर देकर पति-पत्नी ने लगा ली फांसी

जानकारी के मुताबिक मंगलवार रात किसी बात को लेकर पति-पत्नी के बीच कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद दंपति ने तीन बच्चों को जहर देकर खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

suicide
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः pixabay)

हरियाणा के पलवल जिले में औरंगाबाद गांव में एक ही परिवार के 5 लोगों की आत्महत्या से पूरे इलाके में मातम पसर गया। घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। मरने वालों में पति-पत्नी और तीन बच्चे शामिल हैं। बता दें कि यह मामला पति-पत्नी के बीच झगड़े का बताया जा रहा है। फिलहाल घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट बरामद तो नहीं हुआ है लेकिन पड़ोसियों द्वारा यह पारिवारिक कलह का मामला बताया जा रहा है।

पति-पत्नी के बीच हुई थी कहासुनी: पुलिस की शुरुआत जांच में पता चला है कि पति-पत्नी ने खुद फांसी लगाने से पहले तीन बच्चों को जहर देकर मौत के घाट उतारा है। कहा जा रहा है कि मंगलवार रात पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई थी। जिसके बाद रात में दोनों ने बच्चों को पहले जहर दिया और फिर खुद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

सुबह परिवार के मुखिया ने देखा शव: रात में हुए इस घटनाक्रम के बाद जब परिवार के मुखिया ने सुबह उठकर पांचों शवों को देखा तो सन्न रह गया। पुलिस को सूचना देने के बाद सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए पलवल के सिविल अस्पताल भिजवाया गया। मृतकों में नरेश(33), उसकी पत्नी आरती(30), नरेश का सात वर्षीय पुत्र, 9 वर्षीय पुत्री,व 11 वर्षीय भतीजी शामिल हैं। पुलिस इस मामले में मृतकों के रिश्तेदारों और पड़ोसियों से पूछताछ कर रही है।

जींद जिले में आत्महत्या की खबर: पलवल की घटना से पहले बीते मंगलवार की दोपहर हरियाणा के ही जींद जिले के जिला कारागार में संदिग्ध परिस्थितियों में कैदी पवन (21) ने बैरक नंबर दो के बाथरूम में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। सूचना पाकर पुलिस तथा मजिस्ट्रेट ने जिला कारागार जाकर हालातों का जायजा लिया। इस मामले की जांच सिविल लाइन थाना कर रही है। बता दें कि जान देने वाला कैदी अपहरण तथा पॉक्सो अधिनियम में पिछले ढाई महीने से जिला कारागार में बंद था। पुलिस ने बताया कि फांसी लगाने वाला युवक गांव गुलियाना (कैथल) का निवासी था।

पढें हरियाणा समाचार (Haryana News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट