ताज़ा खबर
 

हरियाणा बोर्ड की चूक से बदल गए ‘टॉपर’, पहली सूची में मोनिका रानी थीं टॉपर, दूसरी में सिरसा के युद्धवीर बने टॉपर

जश्न के दौरान ही अचानक फोन की घंटी बजी। इस बार यह खबर आई कि बोर्ड की कोताही के कारण गलत परीक्षा परिणाम जारी हो गया था।

हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने सोमवार को लापरवाही की एक अलग ही मिसाल पेश की।

संजीव शर्मा 

हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने सोमवार को लापरवाही की एक अलग ही मिसाल पेश की। बोर्ड की दसवीं की परीक्षा देने वाली एक छात्रा को फोन पर सूचना मिली कि उसने दसवीं की परीक्षा में पूरे प्रदेश में टॉप किया है। यह खबर सुनते ही उसके घर में बधाई देने वालों का तांता लग गया। जश्न का दौर शुरू हो गया। टीवी चैनलों ने उक्त छात्रा से विशेष बातचीत का दौर शुरू कर दिया। जश्न के दौरान ही अचानक फोन की घंटी बजी। इस बार यह खबर आई कि बोर्ड की कोताही के कारण गलत परीक्षा परिणाम जारी हो गया था। नई मेरिट सूची बाद में जारी की जाएगी। यह सुनते ही छात्रा और उसके परिजनों के चेहरे मुरझा गए। खुशियों का दौर अचानक मायूसी में बदल गया।

फतेहाबाद जिले में सोमवार को यही सब हुआ। स्कूल शिक्षा बोर्ड की महज एक गलती ने तीन विद्यार्थियों को समूचे समाज के सामने हंसी का पात्र बनाकर रख दिया। हरियाणा स्कूल शिक्षा बोर्ड ने सोमवार शाम चार बजे दसवीं कक्षा का परीक्षा परिणाम जारी किया। बोर्ड के चेयरमैन डॉक्टर जगबीर सिंह और सचिव अनिल नागर ने संयुक्त रूप से जारी की गई जानकारी में दावा किया कि प्रथम स्थान पर मोनिका रानी (सीनियर मॉडल उच्च विद्यालय, भिरडाना, फतेहाबाद) ने 493 अंक, द्वितीय स्थान पर रूपेश (आदर्श सीनियर सेकेंडरी स्कूल, कैरू, भिवानी) ने 491 अंक और तृतीय स्थान साक्षी (अमर ज्योति सीनियर सेकेंडरी स्कूल, भुथन कलां, फतेहाबाद), अंजलि (मॉडल केएम सीनियर सेकेंडरी स्कूल, डांगरा टोहाना, फतेहाबाद), रवि कुमार (बाल आदर्श उच्च विद्यालय, बांडाहेड़ी, हिसार) और रजत (आदर्श बाल मंदिर उच्च विद्यालय, नरवाना, जींद) ने 490 अंक अर्जित कर पाया है। बोर्ड की ओर से परीक्षा परिणाम घोषित किए जाते बाकी पेज 8 पर ही ये बच्चे आकर्षण का केंद्र बन गए। उनके गांवों में बधाई देने वालों का तांता लग गया। ढोल की थाप पर लोगों ने टॉपर छात्रा मोनिका रानी के घर पर भांगड़ा तक किया।

कुछ समय बाद एक टीवी चैनल तो मोनिका को लाइव करते हुए हरियाणा में छात्राओं द्वारा दिए जा रहे धरनों के मुद्दों पर न केवल उसकी प्रतिक्रिया ले डाली बल्कि मोनिका के माध्यम से हड़ताली छात्राओं के नाम एक अपील भी करवाई। उक्त टीवी चैनल ने महज एक घंटे के भीतर मोनिका को हरियाणा स्टार बना डाला। यह घटनाक्रम अभी चल ही रहा था कि हरियाणा स्कूल बोर्ड से दोबारा एक फोन आता है। दूसरे फोन के आते ही सभी के चेहरे लटक गए। इस फोन के बाद मोनिका का रो-रो कर बुरा हाल था। फोन करने वाले व्यक्ति ने बोर्ड चेयरमैन के हवाले से कहा कि चूक के कारण टॉपर सूची में गड़बड़ी हुई है। जारी की गई सूची पर रोक लगाई जाती है। नई सूची बाद में जारी की जाएगी। यह सुनते ही टॉपर घोषित विद्यार्थियों के घरों में मायूसी छा गई। करीब एक घंटे की उठापटक के बाद बोर्ड ने दोबारा नई मेरिट सूची जारी की। पहली सूची में जहां फतेहाबाद जिले की छात्रा मोनिका को टॉपर बताया गया था वहीं दूसरी सूची में सिरसा जिले के लहरांवाली गांव के छात्र युद्धवीर को टॉपर घोषित किया गया है।

 

विद्यार्थियों से माफी मांगता हूं: चेयरमैन
बोर्ड के चेयरमैन डॉक्टर जगबीर सिंह ने बताया कि कंप्यूटर की गलती के कारण टॉपरों की गलत सूची जारी हो गई है। कंप्यूटर ने कुछ विद्यार्थियों के 100 में से 100 अंक आए थे, उन्हें कुल अंकों में जोड़ करते समय उठाया नहीं गया है। इसकी वजह से यह चूक हुई है। जिस समय परीक्षा परिणाम का प्रयोगिक रूप से आंकलन किया जा रहा था, तब इस चूक के बारे में पता चला। बहरहाल इस मामले में विभागीय जांच के आदेश जारी कर दिए गए हैं। शुरुआती जांच के आधार पर दो कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने कहा, ‘मैं हरियाणा बोर्ड की तरफ से विद्यार्थियों से माफी मांगता हूं। बोर्ड की गलती के कारण विद्यार्थियों को हंसी का पात्र बनना पड़ा है। इस मामले में किसी भी दोषी कर्मचारी को बख्शा नहीं जाएगा।’

 

गुजरात पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी, कच्छ में दो जनसभाओं को भी करेंगे संबोधित

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App