ताज़ा खबर
 

फ्लैट में पार्टी कर रहे थे, बाहर लड़की दिखी तो भीतर घसीट लिया, 5 गिरफ्तार

गुरुग्राम में बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करने वाली 21 वर्षीय महिला के साथ कुछ लोगों ने कथित तौर पर दुष्कर्म का प्रयास किया। आरोप है ये कोशिश उस वक्त हुई जब वह सेक्टर—86 स्थित अपने घर की ओर लौट रही थी।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

हरियाणा के गुरुग्राम में बहुराष्ट्रीय कंपनी में काम करने वाली 21 वर्षीय महिला कर्मी के साथ कुछ लोगों ने कथित तौर पर दुष्कर्म का प्रयास किया। पीड़िता का आरोप है ये कोशिश उस वक्त हुई जब वह सेक्टर—86 के पॉश आवासीय कॉम्पलैक्स में स्थित अपने घर की ओर लौट रही थी। पुलिस ने इस मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि दो अन्य अभी फरार हैं।

मानेसर के एसीपी शमशेर सिंह ने मीडिया को बताया,”ये वाकया गुरुवार की रात करीब 10 बजे हुआ। बहुराष्ट्रीय आईटी कंपनी में काम करने वाली महिला कर्मी अपने घर की तरफ लौट रही थी। जब वह दूसरी मंजिल स्थित अपने फ्लैट पर जाने के लिए सीढ़ियां चढ़ रही थी। उसने देखा कि इमारत की पहली मंजिल पर कुछ लड़कों ने पार्टी का आयोजन किया है और इसकी वजह से अन्य रहवासियों को परेशानी हो रही है।

पुलिस के मुताबिक, ” महिला ने इस शोर—शराबे का कारण जानने की कोशिश की। इसी बीच महिला का लंच बॉक्स नीचे गिर पड़ा। गिरने की आवाज से उन लोगों का ध्यान महिला की तरफ चला गया। इसके बाद फ्लैट से एक आदमी बाहर निकला, जिसने महिला को कथित तौर पर अंदर घसीटने की कोशिश की।” महिला के मुताबिक, वह किसी तरह जान बचाकर उसके चंगुल से छूटकर अपने फ्लैट की तरफ भाग निकली।

हंगामा तब खड़ा हुआ जब महिला ने मदद के लिए इमारत में रहने वाले लोगों को आवाज लगाई। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, गिरफ्तार होने वाले दोनों लोग इमारत के पहले खंड पर ही रहते थे और आदतन अपराधी हैं। रहवासियों का आरोप है कि पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने में देर की और मामले को रफा—दफा करने की कोशिश की। इस मामले में एफआईआर भी कई घंटों के बाद तब दर्ज हो सकी जब वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को सूचित कर दिया गया।

महिला ने इस बारे में अपने परिजनों को सूचना दी, जिन्होंने इस पूरे घटनाक्रम को अन्य रहवासियों, सुरक्षाकर्मियों और स्थानीय पुलिस के साथ साझा किया। पुलिस का कहना है कि घटना की सूचना मिलने के बाद असिस्टेंट कमिश्नर दक्षिण, एसएचओ मानेसर, एसएचओ खेरकी दौला और अन्य मौके के​ लिए रवाना हो गए थे ताकि कानून—व्यवस्था बिगड़ने से रोका जा सके। पुलिस ने मौके से मुकेश, अभिषेक, सावन, अंकित और ​सचिन को गिरफ्तार किया है। जबकि दो अन्य हेमंत और कमल मौके से भागने में कामयाब रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App