ताज़ा खबर
 

हरियाणा: 11 साल की बच्ची का कई बार बलात्कार, हिरासत में 16 साल का लड़का

प्रिसिंपल नर्मल श्योरान ने कहा कि उन्होंने नोटिस किया कि लड़की क्लास रूम में तो रहती है लेकिन उसका दिमाग कहीं ओर रहता है। उन्होंने स्कूल के शिक्षकों को लड़की के बैकग्राउंड के बारे में पता लगाने को कहा। इसके बाद प्रिंसिपल ने पीड़ित छात्रा के स्कूली दोस्तों ने बात की। इसके बाद ही उन्हें सच्चाई का पता चला।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

दिल्ली से सटे गुरुग्राम में चौथी क्लास की एक छात्रा ने अपने साथ हुए वहशीपन की खौफनाक कहानी पुलिस को बताई है। गुरुग्राम के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाली ये छात्रा कुछ ही सप्ताह पहले अपने दोस्तों के पास आई थी। पुलिस के मुताबिक छात्रा शारीरिक रूप से पीड़ित थी, भावनात्मक रूप से टूटी हुई थी। वह इस कदर खौफ में थी कि वह अपने साथ गुजरे हुए पल को नहीं बता पा रही थी। हालांकि उसने किसी तरह पूरी बात दूसरी लड़कियों को बताई। इस मामले में पुलिस ने 16 साल के एक लड़के को हिरासत में लिया है। ये लड़का पीड़ित का पड़ोसी है और उसी स्कूल में पढ़ता था लेकिन कुछ दिन पहले ही उसने पढ़ाई छोड़ दी थी। शनिवार (10 मार्च) को स्कूल के प्रिंसिपल ने बताया कि लगभग तीन साल पहले भी इस लड़की का यौन शोषण किया गया था। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक लड़की क्लास में गुमशुम सी रहती थी और पढ़ाई में उसका ध्यान नहीं लगता था, अक्सर वह खिड़की से बाहर की ओर देखती रहती थी। स्कूल के प्रिंसिपल निर्मल श्योरान ने कहा कि वह अपना नाम भी नहीं लिख पा रही थी, उसे टेबल याद नहीं थे। तब स्कूल के शिक्षकों को लगा कि कुछ गड़बड़ है।

स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा कि उन्होंने पढ़ाई में कमजोर 50 बच्चों का एक ग्रुप बनाया था ताकि टीचर उनपर ज्यादा ध्यान दे सके, यह बच्ची उसी ग्रुप का हिस्सा थी। प्रिसिंपल नर्मल श्योरान ने कहा कि उन्होंने नोटिस किया कि लड़की क्लास रूम में तो रहती है लेकिन उसका दिमाग कहीं ओर रहता है। उन्होंने स्कूल के शिक्षकों को लड़की के बैकग्राउंड के बारे में पता लगाने को कहा। इसके बाद प्रिंसिपल ने पीड़ित छात्रा के स्कूली दोस्तों ने बात की। इसके बाद ही उन्हें सच्चाई का पता चला। स्कूल प्रिंसिपल ने पूरी बात पुलिस को बताई। बाद में लड़की ने कहा कि आरोपी लड़का उसके घर में आता और उसके साथ बेहूदा हरकत करता। इस दौरान लड़की के माता-पिता काम करने के लिए घर से बाहर होते। लड़की के माता-पिता प्रवासी मजदूर हैं। लड़की की मां ने कहा कि साल 2014 में भी एक पड़ोसी ने उसका यौन शोषण किया था, लेकिन तब कुछ भी पुष्टि नहीं हो सकी थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App