ताज़ा खबर
 

बड़ा एक्शन: डेंगू इलाज के लिए 16 लाख का बिल थमाने वाले फोर्टिस हॉस्पिटल का लीज कैंसिल

अस्पताल प्रशासन ने 15 दिन के इलाज के लिए 16 लाख रुपये का बिल दिया था।

गुरुग्राम स्थित फोर्टिस अस्पताल ।

हरियाणा सरकार ने डेंगू बुखार से पीड़ित 7 साल की बच्ची आद्या सिंह के इलाज के लिए 16 लाख का बिल थमाने वाले गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल का लीज कैंसिल कर दिया है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने अस्पताल की जमीन का लीज रद्द करने का आदेश दिया है। इसके अलावा अस्पताल के ब्लड बैंक का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है। अस्पताल के खिलाफ आपराधिक लापरवाही के लिए FIR दर्ज करायी जाएगी। बता दें कि आद्या सिंह का लगभग 2 हफ्ते तक फोर्टिस अस्पताल में इलाज हुआ था लेकिन डॉक्टर उसे बचा नहीं सके। अस्पताल प्रशासन ने इस इलाज के लिए 16 लाख रुपये का बिल दिया था। सोशल मीडिया में इस खबर पर काफी हंगामा मचने के बाद हरियाणा सरकार ने जांच के आदेश दिये थे। इसके बाद ये कार्रवाई की गई है। बता दें कि आद्या सिंह के पिता जयंत सिंह को जब बेटी की बुखार के बारे में बता चला तो उसे 28 अगस्त को द्वारका के रॉकलैंड अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इस अस्पताल में आद्या का इलाज किया गया, लेकिन दो दिन बाद उसे गुरुग्राम के फोर्टिस अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। इस हॉस्पिटल में आद्या को आईसीयू में रखा गया, उसे इनक्यूबेटर पर रखा गया लेकिन 15 दिनों के बाद उसकी मौत हो गई।

HOT DEALS
  • Moto Z2 Play 64 GB Fine Gold
    ₹ 15868 MRP ₹ 29499 -46%
    ₹2300 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

आद्या के पिता का कहना है कि अस्पताल के खिलाफ गुरुग्राम पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। सुशांत लोक पुलिस स्टेशन के एसएचओ गौरव फोगट ने कहा कि हमें शिकायत मिल गई है, हमलोग एफआईआर दर्ज करने से पहले प्राथमिक जांच करेंगे। शिकायत में जयतं सिंह ने अस्पताल को गैर इरादतन हत्या का दोषी ठहराया है। जयंत सिंह ने कहा है कि अस्पताल ने उनकी बेटी के इलाज में आपराधिक लापरवाही की है। इसके अलावा जयंत सिंह ने अस्पताल पर जालसाजी, धोखाधड़ी और बेइमानी का भी आरोप लगाया है।

जयंत सिंह का आरोप है कि वह अस्पताल को MRI और सीटी स्कैन करने को कह रहे थे लेकिन अस्पताल उन्हें दवाइयां दे रहा था। 14 सितंबर को जब MRI की गई तो डॉक्टरों ने कहा कि बच्ची का 80 फीसदी ब्रेन डैमेज हो चुका है और उसे अब बॉडी प्लाजमा ट्रांसप्लांट की जरूरत है, जिसमें 16 लाख रुपये लगेंगे। सात साल की आद्या की उसी दिन मौत हो गई थी। अस्पताल ने इलाज के लिए 15,79,322 रुपये का बिल दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App