ताज़ा खबर
 

जानिए, बलात्‍कारी बाबा राम रहीम ने लोगों को खींचने के लिए अपनाया था क्‍या तरीका और अपनी गुफा के बारे में क्‍या बताया था

Baba Ram Rahim Singh Case: डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम को दो साध्वियों के बलात्कार के लिए 10 साल की सजा सुनायी गयी है।

डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह।

अप्रैल 2002 में डेरा सच्चा सौदा की एक अज्ञात साध्वी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को पत्र लिखकर आरोप लगाया कि डेरा प्रमुख गुरमीत राम रहीम ने उनके संग बलात्कार किया है। मई 2002 में पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट ने जांच का आदेश दिया। सितंबर 2002 में हाई कोर्ट ने मामला सीबीआई को सौंप दिया। दिसंबर 2002 में सीबीआई ने गुरमीत राम रहीम के खिलाफ बलात्कार और धमकी का मामला दर्ज किया। करीब 15 साल बाद 25 अगस्त को सीबीआई अदालत ने गुरमीत राम रहीम को मामले में दोषी पाया। 28 अगस्त को गुरमीत राम रहीम को 10 साल की सजा सुनायी गयी। करीब दो साल पहले एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में गुरमीत राम रहीम ने अपने निजी जीवन से जुड़े कई सवालों का जवाब दिया था। गुरमीत राम रहीम ने उस गुफा के बारे में भी बताया था जिसमें उसने साध्वियों का बलात्कार किया था। गुरमीत राम रहीम ने ये भी बताया था कि उसके भक्तों में नौजवानों की संख्या कैसी बढ़ी।

HOT DEALS
  • I Kall Black 4G K3 with Waterproof Bluetooth Speaker 8GB
    ₹ 4099 MRP ₹ 5999 -32%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone 8 Plus 64 GB Space Grey
    ₹ 75799 MRP ₹ 77560 -2%
    ₹7500 Cashback

रेडिफ डॉट कॉम ने गुरमीत राम रहीम से पूछा था कि उनकी गुफा का सच क्या है? इस पर गुरमीत राम रहीम ने हंसते हुए कहा कि उनके पास कोई गुफा नहीं है ये बस एक नाम है। गुरमीत राम रहीम ने कहा, “ये एक इकतल्ला इमारत है। ये लीजेंड हमारे पहले गुरु श्याम मस्तानजी महाराज से जुड़ा हुआ है। वो एक भूमिगत गुफा में रहते थे। हमारे दूसरे गुरु शाह सतनाम सिंहजी गुफा के ऊपर एक घर बनाने का फैसला लिया। लेकिन पुराना नाम उससे चिपका रहा। अब हमने नाम बदलकर तेरा वास कर दिया है। ईश्वर के 13 रूपों में हैं और मैं एक किरायेदार की तरह हूं। ”

इसी इंटरव्यू में गुरमीत राम रहीम से ये भी पूछा गया कि क्या वो परिवार के संपर्क में है? इस पर गुरमीत राम रहीम ने कहा, “मुझे अपने बचपन की पूरी याद है। मैं इस पर एक किताब लिख रहा हूं। मैं कृषि विज्ञान की पढ़ाई करना चाहता था लेकिन मैं उससे ज्यादा ओम, हरि, अल्लाह, राम में रुचि रथा था। जब मैं पांच साल का था तो अपने गुरुजी से मिला और अध्यात्म में मेरी रुचि बढ़ गयी।”

गुरमीत राम रहीन ने रेडिफ को बताया था, “मेरे माता-पिता की शादी के 18 साल बाद मेरा जन्म हुआ था। मैं उनका एकलौता बेटा था इसलिए सबका प्रिय था। मेरे पिता एक जमींदार और गांव के मुखिया था। मैं खेलकूद और समाज कल्याण में बहुत सक्रिय था। हमारे जिले में उन दिनों दो-तीन गाड़ियां थीं और उनमें से एक हमारी थी।” गुरमीत राम रहीम ने बताया था कि वो अपने परिवार से मिलता है। रेडिफ के अनुसार गुरमीत की शादी से तीन बच्चे हैं लेकिन 1990 में उसने परिवार का त्याग कर दिया था।

इसी इंटरव्यू में गुरमीत राम रहीम ने कहा था कि वो ट्विटर पर काफी सक्रिय है और उस पर आने वाले हर ट्वीट को पढ़ता है और उनके जवाब देता है। गुरमीत राम रहीम ने युवाओं को अपने से जोड़ने का तरीका भी बताया था। गुरमीत राम रहीम ने कहा था, “मैं सूफी संत हूं और मेरा काम समाज से बुराई मिटाना है। पहले मैं ये सत्संग से करता था। फिर मैंने गाना शुरू किया। जब मैं क्लासिक गीत गाता था तो बहुत लोग नहीं आते थे। लेकिन जब मैंने नौजवानों के लिए हिप हॉप, रैप इत्यादि गाने शुरू किए तो भीड़ आने लगी। “

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App