ताज़ा खबर
 

मां का आरोप- फोर्टिस हॉस्पिटल स्टॉफ की लापरवाही से बच्ची की कटी उंगली, सीसीटीवी फुटेज भी किया एडिट

फोर्टिस मेमोरियल इंस्टीट्यूट गुड़गांव हॉस्पिटल पर भावना रस्तोगी नाम की एक मां ने अपनी नवजात बच्ची की उंगली कटने पर बेहद मार्मिक फेसबुक पोस्ट किया हैं।

फोर्टिस मेमोरियल इंस्टीट्यूट गुड़गांव हॉस्पिटल पर भावना रस्तोगी नाम की एक महिला ने बेहद मार्मिक फेसबुक पोस्ट किया हैं। भावना ने इस पोस्ट में लिखा है कि फोर्टिस हॉस्पिटल की स्टॉफ ने सफाई के दौरान उनकी हाल ही में जन्मी बच्ची का हाथ दरवाजा बंद करने के दौरान आ गया। जिस कारण उसकी रिंग फिंगर कट गई है। भावना ने इसके साथ ही कुछ पिक्चर्स भी पोस्ट की है। भावना ने लिखा है कि, ” फोर्टिस मेमोरियल इंस्टीट्यूट गुड़गांव के डेकेयर सेंटर की कितनी बड़ी अपराधिक लापरवाही, असुरक्षित सेवा, और अशिक्षित स्टॉफ जिसने हमारा जीवन तबाह कर दिया। मैं अपना बेहद दुखद अनुभव शेयर करना चाहती हूं। मैंने ये डेकेयर दो महीने पहले चुना था। हमें बेहद साफ-सफाई, शिक्षित स्टॉफ, सीसीटीवी, और दूसरी जरूरी सेवाओं के लिए सुनिश्चित किया गया था। हालांकि बाद में मुझे पता चला कि ये जगह मेंरे छोटे बच्चे के लिए दर्द का सबसे बड़ा कारण बन जाएगी। जब मैं ये पोस्ट लिख रही हूं मेरे बच्ची मेरे साथ लेटी है। उसकी दायं हाथ की रिंग फिंगर काट डाली गई है।

हॉस्पिटल के मेड ने मेरे बच्ची की डाइपर बदलते हुए दरवाजा बंद किया जिस कारण मेरी बच्ची की रिंग फिंगर दरवाजे में आने के कारण कट गई। कोई अंदाजा नहीं लगा उसे दर्द से चिल्लाते और उसके हाथ से खून निकलता देखकर मुझ पर क्या बीती है। इतना दुखद हादसा है जिससे कोई मां बाप कभी ना गुजरे। 19 मई को मेदांता में हमने एक मेजर सर्जरी कराई है। हम नहीं जानते अब क्या होगा। ये हादसा इस गुरूवार को किसी और के साथ दुबारे घटा है। और ये हादसा शायद हर हफ्ते में दो बार हो ही जाता है। जब हमने उनसे सीसीटीवी फुटेज मांगा ये जानने के लिए कि वास्तव में क्या हुआ था तो हमें पूजा गोयल और शिवानी कपूर जो गुड़गांव के तीन सेंटर की फाउंडर हैं ने हमें ये जवाब दिया।

1- सीसीटीवी दुर्घटनावश उस समय काम नहीं कर रहा था। इसलिए किसी प्रकार को कोई फुटेज उपलब्ध नहीं है।

ये पूरी फेसबुक पोस्ट आप यहां पढ़ सकते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.