ताज़ा खबर
 

वीडियो: हथियारबंद बदमाशों से भिड़ गई स्टेट बैंक की 2 महिलाकर्मी, दोनों लुटेरों को पकड़ लिया फिर भीड़ ने कर दी धुनाई

महिलाओं के बदमाशों के साथ भिड़ने के बाद वहां के स्थानीय लोगों ने आकर बदमाशों को पकड़ लिया और उनकी जमकर पिटाई की।

Author गुड़गांव | April 4, 2017 7:12 PM
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

गुड़गांव में एक बैंक की दो महिला कर्मचरियों ने बहुत ही बहादुरी दिखाते हुए बैंक को लुटने से बचा लिया। यह घटना सोमवार की है। बादशाहपुर इलाके में स्थित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की मनी ट्रांसफर ब्रांच में दो अज्ञात बदमाश घुस आए। हथियारों से लैस बदमाशों ने बैंक कर्मचारियों पर बंदूक तान दी और उनसे पैसे लूटने की कोशिश करने लगे लेकिन दो महिला कर्मचारियों ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया। दोनों महिला बदमाशों से भिड़ गईं। ये सारी वारदात बैंक के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई। महिलाओं के बदमाशों के साथ भिड़ने के बाद वहां के स्थानीय लोगों ने आकर बदमाशों को पकड़ लिया और उनकी जमकर पिटाई की। इसके बाद दोनों आरोपियों को पुलिस के हवाले कर दिया गया। इस मामले के सामने आने के बाद लोग इन दोनों महिलाओं की बहादुरी की सराहना कर रहे हैं। इन दोनों ने जो साहसी कदम उठाया है आज के समय में शायद कम लोग ही ऐसा कदम उठा पाते हैं।

गुड़गांव में यह पहला मामला नहीं है जहां पर बदमाशों ने बैंक को लूटने का प्रयास किया है। जहां इस वारदात में बदमाश बैंक लूटने में नाकाम रहे वहीं पिछले महीने मणाप्पुरम फिनांस की ब्रांच से लुटेरे 32 किलो सोना समेत 9 करोड़ रुपए लेकर चंपत हो गए थे। इस ब्रांच पर करीब सात से आठ हथियारबंद बदमाशों ने हमला बोला दिया था।  इन बदमाशों ने बैंक कर्मचारियों को बंदूक की नोक पर रखकर वारदात को अंजाम दिया।

इस मामले में एक कर्मचारी ने पुलिस को दिए बयान में कहा कि दो बदमाशों ने पहले बैंक के गेट पर खड़े दो गार्ड़ों पर हमला बोला और उनसे उनकी रायफल छीन ली थी। कर्मचारी ने बताया कि बदमाशों ने शराब पी रखी थी। यह पूरी वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। पुलिस अभी तक इन बदमाशों को पकड़ नहीं पाई है। देश भर में ऐसे कई मामले सामने आते रहते हैं जहां पर बैखोफ होकर बदमाश वारदातों को अंजाम दे रहे हैं।

देखिए वीडियो - गुड़गांव: शिवसैनिकों ने बंद करवाई 500 से ज्यादा चिकन और मीट की दुकानें, नवरात्रि का दिया हवाला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App