ताज़ा खबर
 

हरियाणा में 4 दिन के भीतर छह बलात्‍कार, घर में अकेली महिला से गैंगरेप के बाद खट्टर बोले- मैं दुखी हूं

चौंकाने वाली बात यह है कि जिन छह महिलाओं के साथ दुष्कर्म हुआ उनमें चार नाबालिग थीं। एक मामले में अपराधियों ने घर में अकेली महिला को हवस का शिकार बनाया है।

बताया जाता है कि सूबे में रेप की बढ़ती वारदातों के तहत बुधवार को भाजपा के राष्ट्रीय अमित शाह ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात की। (फोटो सोर्स एएनआई)

हरियाणा में पिछले चार दिनों में छह रेप की वारदातों के बाद राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा को लेकर निशाने पर आ गई है। चौंकाने वाली बात यह है कि जिन छह महिलाओं के साथ दुष्कर्म हुआ उनमें चार नाबालिग थीं। बीते मंगलवार (16 जनवरी, 2017) को अपराधियों ने साढ़े तीन साल की मासूम बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया था। टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार दिनभर लापता रही बच्ची रात को दर्द से कराहते हुए वापस लौटी। उसके कपड़े खून में सने हुए थे। उपचार के लिए जब बच्ची को हॉस्पिटल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने रेप की पुष्टि की। मामले में हिसार महिला पुलिस स्टेशन की स्टेशन हाउस ऑफिसर (एसएचओ) ने बताया कि आरोपी युवक को गिरफ्तार को कर बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

वहीं एक अन्य मामले में बीते रविवार (14 जनवरी, 2017) को कक्षा-9 की छात्रा के साथ रेप की वारदात सामने आई। घटना सोनीपत सदर पुलिस स्टेशन के आसपास की बताई गई है। अब गुरुवार को भी गैंगरेप का मामला सामने आया है। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार सूबे के फतेहाबाद में अपराधियों ने उस वक्त बीस वर्षीय महिला को हवस का शिकार बनाया जिस जब वह घर में अकेली थी। फतेहाबाद महिला पुलिस स्टेशन की इंचार्ज बिमला देवी ने बताया, ‘पीड़ित महिला ने दो लोगों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है। महिला को मेडिकल जांच के लिए हॉस्पिटल भेजा गया है। आरोपियों के खिलाफ आईपीसी के विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर लिया गया है। आरोपियों के धड़पकड़ के लिए विशेष दस्ते का गठन किया गया है।’

बताया जाता है कि सूबे में रेप की बढ़ती वारदातों के तहत बुधवार (17 जनवरी) को भाजपा के राष्ट्रीय अमित शाह ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात की। हालांकि मुख्यमंत्री ऑफिस के एक अधिकारी का कहना है कि मीटिंग पहले से ही तय थी। उन्होंने आगे बताया कि दोनों नेताओं के बीच  15 फरवरी को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के जींद दौरे को लेकर बातचीत हुई।

रिपोर्ट के अनुसार इस दौरान मुख्यमंत्री ने सूबे में बढ़ती वारदातों पर चिंता जाहिर की। उन्होंने कहा कि इन घटनाओं से वह दुखी हैं। इन अपराधों से जुड़े किसी भी दोषी को छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने विपक्षी पार्टियों ने इन अपराधों पर राजनीति नहीं करनी की अपील की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App