ताज़ा खबर
 

पार्टनर ने मांगा 40 लाख का बकाया तो दंपति ने मिलकर कर दी हत्या, शव के 25 टुकड़े कर फेंका

पुलिस के मुताबिक, जब हरनेक सिंह से सख्ती से पूछताछ की कि आखिर डकैतों ने सिर्फ उसकी पत्नी की ही हत्या क्यों की? जबकि उसे सिर्फ घायल करके छोड़ दिया गया। हरनेक इस सवाल का कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सका। पुलिस ने जब उससे गहराई से पूछताछ की तो वह टूट गया।

इस हत्यारे की क्रूरता रोंगटे खड़ी कर देने वाली है। प्रतीकात्मक तस्वीर

हरियाणा के गुरुग्राम में 40 लाख रुपये का कर्ज अदा न कर पाने पर एक शख्स ने अपनी पत्नी की मदद से बिजनेस पार्टनर की हत्या कर दी। हत्यारे शख्स ने हत्या के बाद अपनी पत्नी के साथ आत्महत्या करने का फैसला किया था। लेकिन जब पत्नी ने साथ में आत्महत्या करने से इंकार कर दिया तो शख्स ने अपनी पत्नी की भी हत्या कर दी।

बीते शुक्रवार (26 अक्टूबर) को पुलिस ने मीडिया को पूरी घटना की जानकारी दी। पुलिस ने मीडिया को बताया, आरोपी हरनेक सिंह ने अपने बिजनेस पार्टनर जसकरन सिंह से 40 लाख रुपये उधार लिए थे। लेकिन कई तगादों के बाद भी वह रुपये चुकाने नहीं सका। रुपये मांगकर उकता चुका जसकरन सिंह 14 अक्टूबर को हरनेक सिंह के डीएलएफ-फेज 2 स्थित घर पर पैसे मांगने के लिए आ गया। इसी बीच मौका देखकर हरनेक, उसकी पत्नी गुरमेहर कौर और उनके दोस्त ने उसे रस्सी से बांध दिया और उसकी हत्या कर दी।

गुरुग्राम पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी सुभाष बोकन के मुताबिक, आरोपी हरनेक सिंह, गुरमेहर कौर और उनके दोस्त ने जसकरन के शरीर के 24 से 25 टुकड़े किए। बाद में इन टुकड़ों को दो प्लास्टिक बैग में डालकर वह अपने गृहनगर लुधियाना के लिए निकल गए। आरोपियों ने लुधियाना के रास्ते में पड़ने वाली सभी सूनसान जगहों पर उसकी लाश के टुकड़ों को फेंकते हुए चले गए।

गुरुग्राम से लौटने के बाद, हरनेक सिंह को अहसास हुआ कि वे पकड़े जा सकते हैं। इसके बाद ​हरनेक ने अपनी पत्नी गुरमेहर कौर को भरोसे में लिया कि वह एक साथ आत्महत्या कर लेंगे। जब गुरमेहर ने आत्महत्या करने से इंकार कर दिया तो 22 अक्टूबर की रात में हरनेक ​सिंह ने कथित तौर पर अपनी पत्नी की भी गला रेतकर हत्या कर दी। हरनेक सिंह ने खुद को भी घायल कर लिया और पुलिस को गुमराह करने की भी कोशिश की। बाद में उसने पुलिस को बताया कि उसके घर में डकैतों ने हमला किया था और गुरमेहर की हत्या कर दी।

पुलिस के मुताबिक, जब हरनेक सिंह से सख्ती से पूछताछ की कि आखिर डकैतों ने सिर्फ उसकी पत्नी की ही हत्या क्यों की? जबकि उसे सिर्फ घायल करके छोड़ दिया गया। हरनेक इस सवाल का कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे सका। पुलिस ने जब उससे गहराई से पूछताछ की तो वह टूट गया। उसने हत्या की बात स्वीकार कर ली। पुलिस ने हरनेक सिंह को स्थानीय कोर्ट में पेश किया है। जहां से उसे दो दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App