ताज़ा खबर
 

गैंगस्टर सुंडा का दावा- एक पुलिस अफसर ने दी दूसरे की 25 लाख की सुपारी

गैंगस्टर ने बताया कि उसके साथियों ने चार बार क्राइम ब्रांच प्रभारी पर हमले का प्लान बनाया।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (फाइल फोटो)

एक निलंबित एएसआई द्वारा क्राइम ब्रांच प्रभारी की हत्या के लिए 25 लाख रुपए में सुपारी देने का मामला सामने आया है। जेल में बंद कुख्यात गैंगस्टर सुंडा ने कड़ी पूछताछ में खुद पुलिस को यह जानकारी दी है। गैंगस्टर ने पुलिस को बताया कि जेल में रहने के दौरान उसे अडवांस के तौर पर दस लाख रुपए भी दिए गए थे। गैंगस्टर के इस खुलासे पुलिस के होश उड़ गए हैं। उसने पुलिस को आगे बताया कि चार बार प्रभारी पर हमले का प्लान बनाया था। दरअसल फर्जी आर्म्स लाइसेंस केस में पुलिस गैंगस्टर को रिमांड पर लेकर आई थी। सूत्रों के अनुसार मूलरूप से रोहतक निवासी गैंगस्टर सुरेंद्र सुंडा हत्या सहित आधा दर्जन मामलों में भोंडसी जेल में बंद है। सुंडा पर फर्जी आर्म्स लाइसेंस मामले में आरोपी गुड़गांव निवासी मनीष भारद्वाज से जेल में रहते दो लाख रुपए की अवैध वसूली का आरोप है। इसी मालमें में क्राइम ब्रांच ने शुक्रवार (12 जनवरी, 2017) को उसे जेल से रिमांड पर लिया था।

पूछताछ में गैंगस्टर ने बताया कि क्राइम ब्रांच प्रभारी सब इंस्पेक्टर राजकुमार शर्मा की हत्या के लिए उसने 25 लाख रुपए में सुपारी ली थी। इसके लिए दस लाख रुपए अडवांस में भी लिए। आरोप है कि सुंडा को सुपारी जेल में बंद निलंबित एएसआई राज सिंह ने दी थी। बता दें कि राज सिंह पर कई केस दर्ज है। इसमें मामले में पिछले साल वह जेल भी जा चुका है। इसी दौरान उसकी मुलाकात गैंगस्टर सुंडा से हुई।

गैंगस्टर ने बताया कि उसके साथियों ने चार बार क्राइम ब्रांच प्रभारी पर हमले का प्लान बनाया। इसमें एक बार वह स्कूटी से अपने बेटे को बस तक छोड़ने जा रहे थे। एक बार वह सेक्टर- 52 में अपने निर्माणधीन मकान के बाहर घड़े थे। वहीं दो बार वह अपनी पत्नी के साथ कार में जा रहे थे। मामले में डीसीपी क्राइम ब्रांच सुमित कुहाड़ ने बताया कि गैंगस्टर ने अन्य बदमाश राजसिंह का नाम भी लिया है। पुलिस इसकी जांच करेगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App