ताज़ा खबर
 

हरियाणा में विपक्ष के नेता ने दी धमकी- आरक्षण दे दो वरना भुगतना होगा खामियाजा

चौटाला ने सरकार को धमकी देते हुए कहा कि अगर सरकार जाटों की बात नहीं मानती है तो 27 फरवरी को शुरू होने वाले विधानसभा सत्र को वे चलने नहीं देंगे।

अभय चौटाला ने दी सरकार को धमकी सब्र की परीक्षा न ले।

आठ दिनों से आरक्षण की मांग को लेकर चल रहे जाटों के धरने को सम्बोधित करने पहुंचे विपक्ष के नेता अभय चौटाला ने मनोहर लाल खट्टर सरकार को धमकी देते हुए कहा कि सरकार जाटों के सब्र की परीक्षा न ले। चौटाला ने कहा कि इस बार हरियाणा की भाजपा सरकार को उसके मंसूबों में कामयाब नहीं होने देंगे। पिछली बार की तरह इस बार धर्म और जाति के नाम पर राजनीति नहीं होने देंगे। चौटाला ने सरकार को धमकी देते हुए कहा कि अगर सरकार जाटों की बात नहीं मानती है तो 27 फरवरी को शुरू होने वाले विधानसभा सत्र को वे चलने नहीं देंगे।

इनेलो विधायकों और सांसदों के साथ गांव ईक्कस में चल रहे जाटों के धरने में पहुंचे चौटाला ने लोगों को अपना पूर्ण समर्थन देने की बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार को जात-पात के नाम पर राजनीति नहीं करने दी जाएगी। सरकार राज्य में भाईचारे को बिगड़ना चाहती है लेकिन हम सरकार के इन मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे। इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर निशाना साधते हुए चौटाला ने कहा कि 10 साल साथ रहने के बाद हुड्डा ने जिन पांच जातियों को अपनी राजनीतिक रोटियां सेंकने के लिए जो आरक्षण जल्दबादी में दे दिया, यह उसी का नतीजा है जिसके कारण आज जाटों को परेशान होना पड़ रहा है।

वहीं दूसरी तरफ भिवानी में चल रहे धरने को संबोधित करते हुए यशपाल मलिक ने कहा कि अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति द्वारा हमने सरकार के सामने सात मांगे रखी हैं जिन्हें हम हर हालात में लेकर ही रहेंगे। मलिक ने कहा कि 12 फरवरी को यह धरना आंदोलन का रूप लेगा। सरकार की अनदेखी को देखते हुए हर जिले में चार-चार धरनों का आयोजन किया जाएगा। आरक्षण सहित हमारी सात मांगों को सरकार को मानना ही पड़ेगा। अब टेंशन लेने की बारी सरकार की है, हमारी नहीं। इसके बाद मलिक ने बताया कि 19 फरवरी को बलिदान दिवस मनाया जाएगा।

यशपाल मलिक ने प्रदेश की मनोहर सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार हम पर रोज धरने को उठाना का दवाब बना रही है लेकिन यह धरना अब तभी उठेगा जब सराकर हमारी मांगे पूरी कर देगी।

देखिए वीडियो - जाट आरक्षण आंदोलन: हाईकोर्ट ने माना मुरथल में हुआ था बलात्कार, SIT से दोषी और पीड़ितों को खोजने को कहा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App