ताज़ा खबर
 

सरकारी गेस्‍ट हाउस में कैद कर चार दिनों तक गैंगरेप करते रहे 40 लोग

चंडीगढ़ के पंचकूला स्थित एक गेस्ट हाऊस में एक महिला को चार दिनों तक बंधक बना 40 लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। इस मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

प्रतीकात्मक तस्वीर।

देश में भले ही बलात्कार के खिलाफ कड़े कानून बनाए जाने की कवायद हो रही है। लोग सड़कों पर उतर आरोपी को फांसी देने की मांग कर रहे हैं, इसके बावजूद ऐसी घटनाएं कम नहीं हो रही है। देश के दो अलग-अलग राज्यों से दरिदंगी की दो एेसी घटनाएं सामने आयी है। पहली घटना हरियाणा के चंडीगढ़ के पंचकूला का है। यहां एक सरकारी गेस्ट हाऊस में एक महिला को चार दिनों तक बंधक बनाकर 40 लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। उसे लगातार प्रताडि़त करते रहे। किसी तरह वह आरोपियों के चंगुल से भाग पुलिस के पास पहुंची और पूरी घटना की जानकारी दी। महिला की उम्र 22 साल बताई जा रही है। पुलिस ने इस मामले में दो अारोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, झारखंड में भी दो लड़कियों को दो दिनों तक बंधक बना दुष्कर्म किया गया।

जानकारी के अनुसार, पंचकूला के मोरनी स्थित एक सरकारी गेस्ट हाऊस में एक महिला को बंधक बनाकर चाल दिनों तक उसके साथ 40 लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म किया। यह गेस्ट हाऊस शहर के मुख्य इलाके से थोड़ी पर है। चार दिनों बाद वह किसी तरह वहां से भागने में कामयाब रही। भागने के बाद पुलिस के पास पहुंची और अपनी आपबीती बताई। पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज कर उसे मेडिकल टेस्ट के लिए भेजा, जहां सामूहिक दुष्कर्म की पुष्टि की गई। इस मामले में पुलिस ने होटल मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। वहीं तत्काल कार्रवाई करते हुए दो अाराेपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य की गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है।

वहीं, इसी तरह की एक और घटना झारखंड के गुमला जिले से सामने आयी है। यहां दो लड़कियों को बंधक बना दो दिनों तक सामूहिक दुष्कर्म किया गया। पुलिस ने सूचना के बाद छापेमारी कर दो व्यक्तियों को गिरफ्तार करते हुए दोनों लड़कियों को मुक्त करवाया। पुलिस ने बताया कि आगे की जांच कार्रवाई जारी है। वहीं, इस बाबत एक पीडि़ता ने बताया कि अरोपी की हमारी बहन से पहले से जान पहचान थी। इसके बाद हमने भी उनसे बात करनी शुरू कर दी। बाद में उन्होंने हमारा अपहरण कर लिया और दो दिनों तक बंधक बना हमारे साथ गलत काम किया। वहीं, विरोध करने पर हमें धमकी भी दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App