ताज़ा खबर
 

Haryana: कुएं में उतरे दो किसानों की जहरीली गैस से मौत, परिजनों का आरोप- घंटों बाद भी नहीं पहुंची मदद

भिवानी के चरखी दादरी इलाके में जहरीली गैस से दम घुटने से दो किसानों की मौत हो गई। घटना की सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड व एंबुलेंस की गाडियां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद तीनों किसानों को बाहर निकाला गया।

Author भिवानी | June 14, 2019 12:52 PM
प्रतीकात्मक फोटो फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

भिवानी के चरखी दादरी इलाके के गांव कलाली के खेतों में बने पुराने कुएं को ठीक करने के लिए गुरूवार (13 जून) को उतरे तीन किसानों में से दो की मौत जहरीली गैस से दम घुटने से हो गई, जबकि एक अन्य किसान बेहोश हो गया।मृतक किसानों के शवों का दादरी के सरकारी अस्पताल में पोस्टमॉर्टम करवाया गया है। गंभीर हालत में पहुंचे किसान का इलाज ऑक्सीजन लगाकर किया जा रहा है। मौके पर प्रशासनिक अधिकारी पहुंचे और घटना की जानकारी ली। वहीं, परिजनों का आरोप है कि प्रशासन को सूचना देने के बावजूद भी उनकी सुध नहीं ली गई।

जहरीली गैस के कारण हुए बेहोशः पुलिस ने बताया कि कलाली गांव निवासी किसान जौहरी सिंह अपने परिवार के अन्य सदस्यों के साथ खेतों में बने कुएं को ठीक करने पहुंचे थे। दोपहर कुएं को ठीक करने जौहरी सिंह को उतारा गया तो जहरीली गैस के कारण दम घुटने से वह बेहोश हो गए। काफी देर तक कोई आवाज नहीं आने पर सुमित अपने ताऊ को देखने कुएं में नीचे उतरा तो वह भी जहरीली गैस की चपेट में आने से बेहोश हो गया। दोनों किसानों की काफी देर तक कोई हलचल या आवाज सुनाई नहीं दी तो बलवान सिंह कुएं में उतर गया। तीनों किसान कुएं की जहरीली गैस के कारण बेहोश हो गए। पास ही काम कर रहे ग्रामीणों और किसानों ने घटना की जानकारी प्रशासन व पुलिस को दी। सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड व एंबुलेंस की गाडियां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद तीनों को बाहर निकाला। इस दौरान दो किसान मृत पाए गए और बलवान सिंह की हालत गंभीर बनी हुई थी। चिकित्सकों की टीम ने ऑक्सीजन लगाकर बलवान का इलाज शुरू कर दिया। वहीं, दोनों मृत किसानों के शव पोस्टमॉर्टम के बाद परिजनों को सौंप दिए गए।
National Hindi News, 14 june 2019 LIVE Updates: दिनभर की खबरें जानने के लिए यहां क्लिक करें

बचाव के लिए नहीं थे पुख्ता उपकरणः मृतक किसान के रिश्तेदार समुंद्र ने बताया कि घटना के बारे में उन्होंने प्रशासन को फोन कर दिया था। लेकिन काफी समय तक उनके पास कोई नहीं पहुंचा। करीब दो घंटे बाद फायर ब्रिगेड व एंबुलेंस की गाड़ी मौके पर पहुंची थी। दोनों के पास बचाव के लिए कोई पुख्ता उपकरण या मशीनें नहीं थी। अगर समय पर पहुंच जाते तो किसानों को बचाया जा सकता था। सरकारी अस्पताल पहुंचे नायब तहसीलदार राजकुमार ने बताया कि सूचना मिलते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम व फायर ब्रिगेड भेज दी थी। कुएं में जहरीली गैस होने के चलते दम घुटने से दो किसानों की मौत हुई है, जबकि तीसरे किसान का उपचार चल रहा है। फिलहाल सदर थाना पुलिस द्वारा इस मामले में कार्रवाई की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X