ताज़ा खबर
 

रिश्तों का सौदाः जुए में पत्नी को हार गया, विरोध करने पर दे दिया तीन तलाक

पीड़िता के साथ यह घटना साल भर पहले घटी थी। मगर इसका खुलासा अब हुआ है। साल भर तक वह अपने पति और ससुराल वालों के उत्पीड़न का शिकार होती रही, लेकिन पानी जब सिर से ऊपर जाने लगा तो उससे सहन न हुआ। गुरुवार (15 मार्च) को इसी संबंध में पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दी और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

नूंह में एक महिला ने पति के खिलाफ शिकायत दी है। कहा है कि पति ने उसे जुए में दांव पर लगा दिया था। (फोटोः Freepik)

हरियाणा से पत्नी-पत्नी के रिश्ते को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। यहां एक शख्स ने जुए में अपनी पत्नी को ही दांव पर लगा दिया। यह बाजी वह हार गया। हद तो तब हुई, जब उसने पत्नी को साथी जुआरी के हवाले कर दिया। महिला ने इस बात पर विरोध जताया तो पति ने उसे तीन तलाक दे डाला। रिश्ते की सौदेबाजी से जुड़ा यह मामला दिल्ली से सटे राज्य हरियाणा का है। पीड़िता के साथ यह घटना साल भर पहले घटी थी। मगर इसका खुलासा अब हुआ है। साल भर तक वह अपने पति और ससुराल वालों के उत्पीड़न का शिकार होती रही, लेकिन पानी जब सिर से ऊपर जाने लगा तो उससे सहन न हुआ। गुरुवार (15 मार्च) को इसी संबंध में पीड़िता ने पुलिस में शिकायत दी और आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। नूंह (पुराना नाम मेवात) एसपी ने मामले की जांच-पड़ताल कर उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।

पीड़िता मूल रूप से यहां के मोहम्मद नगर (हवन नगर) की निवासी है। उसके दो बच्चे भी हैं। पीड़िता के मामा साबिर का कहना है कि भांजी शकीरा के पिता बचपन में गुजर गए थे। वह तब से मेरे पास है। चार साल पहले उसकी शादी राजस्थान में भरतपुर के रहने वाले इमरान से हुई थी। परिजनों ने तब दहेज भी दिया था। फिर भी ससुराली उसे मारते-पीटते और परेशान करते थे। पति जुए का आदी है। एक दिन उसने रिश्ते की सौदेबाजी कर डाली। पत्नी को जुए में दांव पर लगा आया और हार भी गया। घर लौटा तो पत्नी को साथी जुआरी को सौंप दिया। पत्नी ने इसका विरोध किया तो तीन तलाक दे दिया। पीड़िता न्याय की आस में इसके बाद पंचायत पहुंची, लेकिन कुछ नहीं हुआ।

न्याय पाने के लिए एक साल से ठोकरें खा रही शकीरा बोलीं, “तीन तलाक के बाद मैं और मामा इंसाफ के लिए जगह-जगह चक्कर काट रहे हैं। बिरादरी पंचायतों से निराश होने के बाद नूंह के परिवार परामर्श केंद्र पर गए, जहां सब ठीक कराने का आश्वासन देकर तकरीबन छह हजार रुपए खर्च कराए गए। पैसे लेकर बाद में हाथ खड़े कर दिए। अब जीवन में सिर्फ अंधेरा नजर आता है। धर्म की आड़ में तीन तलाक देने वालों पर सख्त कार्रवाई हो।” वहीं, एसपी नाजनीन भसीन ने आश्वासन दिया है कि वह इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X