scorecardresearch

सिर फोड़ने की बात करने वाले करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा का हुआ तबादला

करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा का हरियाणा सरकार ने तबादला कर दिया है। आयुष सिन्हा किसानों पर हुए लाठीचार्ज के दौरान दिए गए आदेशों के कारण विवादों में घिरे थे।

karnal sdm ayush sinha
करनाल के SDM आयुष सिन्हा का हुआ तबादला (फाइल फोटो)

करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा का हरियाणा सरकार ने तबादला कर दिया है। आयुष सिन्हा किसानों पर लाठीचार्ज करने के मामले में विवादित आदेश के कारण किसान और विपक्ष के निशाने पर थे।

हरियाणा सरकार ने बुधवार को जारी एक आदेश में कहा कि आयुष सिन्हा को अब नागरिक संसाधन सूचना विभाग में हरियाणा सरकार के अतिरिक्त सचिव के रूप में तैनात किया जाएगा। इससे पहले राज्य के मुख्य सचिव विजय वर्धन ने उस वीडियो पर एक रिपोर्ट मांगी थी, जिसमें आयुष सिन्हा को कथित तौर पर प्रदर्शनकारियों के खिलाफ पुलिस को बल प्रयोग करने का निर्देश देते हुए सुना जा सकता है।

ऐसे आरोप हैं कि वीडियो के साथ छेड़छाड़ की गई और इससे पूरी तस्वीर पेश नहीं हो रही है। सूत्रों ने कहा कि वर्धन ने करनाल के डीसी निशांत यादव से रिपोर्ट मांगी थी।

जहां सीएम मनोहर लाल खट्टर ने एसडीएम का बचाव किया था और केवल ब्रीफिंग के दौरान इस्तेमाल किए गए शब्दों के चयन पर आपत्ति जताई थी, वहीं डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा था कि सरकार निश्चित रूप से उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी। चौटाला ने कहा था-“मैं कल की घटना से आहत हूं, जिस तरह एक आईएएस अधिकारी द्वारा एक आईएएस अधिकारी के नैतिक मानकों को पूरा नहीं करने वाले बयान दिए गए थे। उसके खिलाफ समय के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी”।

बता दें कि करनाल में 28 अगस्त यानी शनिवार को पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे किसानों पर लाठीचार्ज किया था। इस लाठीचार्ज में कई किसान गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इसके बाद करनाल के एसडीएम आयुष सिन्हा का एक वीडियो वायरल होने लगा था। इसमें उन्हें पुलिसकर्मियों को किसानों का सिर फोड़ने का आदेश देते हुए सुना गया था।

शनिवार को हरियाणा में किसानों के विरोध के दौरान कैप्चर की गई एक वीडियो क्लिप में, सिन्हा को पुलिसकर्मियों के एक समूह को निर्देश देते हुए सुना गया था- “उठा उठा के मरना पीछे सबको (उन्हें जोर से मारना) … हम इस घेरा को तोड़ने की अनुमति नहीं देंगे। हमारे पास पर्याप्त बल उपलब्ध है। हम पिछले दो दिनों से सोए नहीं हैं। लेकिन तुम यहां सो कर आए हो… मेरे पास एक भी बंदा निकल के नहीं आना चाहिए। अगर आए तो सर फूटा हुआ होना चाहिए उसका।”

एसडीएम आयुष सिन्हा की इसी वीडियो पर विवाद हो गया और विपक्ष से लेकर किसान तक एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे थे, जिसके बाद आज उनका करनाल से तबादला कर दिया गया।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.